मानपुर। महानवमी पर गुरुवार को सुबह से लेकर शाम तक माता की मूर्ति स्थापना वाले स्थलों पर हवन कर पूर्णाहुति दी गई। इसके बाद भंडारे शुरू हुए जो कई जगह देर रात तक चलते रहे। मां आशापूर्णा पहाड़ी पर माता के दर्शन के लिए हजारों श्रद्घालु पहुंचे, जहां मां आशापूर्णा को छप्पन भोग लगाया गया। वहीं मंदिर प्रांगण में 9 दिनों तक अखंड 108 दीप प्रज्वलित किए गए जहां शाम 5 बजे से भंडारा प्रारंभ हुआ। यहां हजारों श्रद्घालुओं ने प्रसादी ग्रहण की, वहीं शाम को पर्यटन मंत्री एवं क्षेत्रीय विधायक उषा ठाकुर भी मां आशापूर्णा धाम पर पहुंचीं, जहां पर मंत्री ठाकुर ने माता के दर्शन कर भंडारे में प्रसादी ग्रहण की। मंदिर के पुजारी द्वारा मंत्री का चुनरी ओढ़ाकर और श्रीफल से स्वागत किया गया। शेरपुर रोड स्थित मां लालबाई फूलबाई मंदिर पर भी कन्या पूजन कर भंडारे का आयोजन किया गया। शीतला गली स्थित शीतला माता मंदिर पर हवन पूजन के बाद भंडारे का आयोजन किया गया। वहीं शनि गली में कन्या पूजन के बाद कन्या भोज हुआ जहां बालिकाओं ने प्रसादी ग्रहण की। सभी स्थानों पर कोरोना प्रोटोकाल को ध्यान में रखकर कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस अवसर पर जनपद अध्यक्ष संतोष लीलाधर पाटीदार, मंडल अध्यक्ष पुंजालाल निनामा, महामंत्री राजकुमार वर्मा, रोहित मंडलोई, नगर अध्यक्ष नरेंद्र खंडेलवाल, पूर्व पार्षद पुरुषोत्तम, कमल पटेल, अनिल दांदक, सोनू ठाकुर, ओम प्रकाश उपाध्याय, लालू मित्तल, गजेंद्र सिंह ठाकुर आदि उपस्थित थे।

धन्नड़। माताजी के जवारा विसर्जन में भक्तों की भीड़ उमड़ी। जगह -जगह पंडालों से जवारे निकले। ज्योत लिए माताजी के भक्तों का जगह-जगह स्वागत किया गया। जगह-जगह माताजी को चुनरी ओढ़ाई गई। पूरे गांव का भ्रमण करने के बाद माताजी की महाआरती के बाद ज्योत का विसर्जन किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local