महू। छावनी परिषद में नागरिकों की ओर से नामित सदस्य के रूप में नियुक्त शिव शर्मा ने गुरुवार को पदभार ग्रहण किया, जिनका अधिकारियों ने स्वागत किया। इस मौके पर आयोजित बोर्ड बैठक में अनेक निर्णय लिए गए, जिसमें प्रमुख रूप से शहर के बीचों बीच व सड़क पर चल रहे मीट शॉप तथा सब्जी बाजार को अन्य व्यवस्थित स्थान पर स्थानांतरित करने का निर्णय लिया गया।

शिव शर्मा का छावनी परिषद में बोर्ड अध्यक्ष जॉय विश्वास व सीईओ राजेंद्र जगताप ने स्वागत किया। इस मौके पर मंत्री तथा स्थानीय विधायक उषा ठाकुर भी मौजूद थीं। बोर्ड की सामान्य बैठक में अनेक निर्णय लिए गए, जिसमें प्रमुख रूप से मीट शॉप, सब्जी बाजार को व्यवस्थित स्थान पर स्थानांतरित करने का निर्णय लिया गया। नालियों को अतिक्रमण से मुक्त कराने, मॉडर्न सीवरेज लाइन डालने, सेंट्रल ड्रेनेज सिस्टम पानी की लाइन डालने, सड़कों के चौड़ीकरण करने का भी निर्णय लिया गया। परिषद के राजस्व में वृद्घि करने के उद्देश्य से प्रवेश कर, यात्री कर में वृद्घि करने का भी निर्णय लिया गया। बैठक में मालवा मार्केट के सुंदरीकरण करने,विद्यार्थियों के लिए स्टडी रूम व ई लायब्रेरी बनाने का भी निर्णय लिया गया। छावनी परिषद द्वारा संचालित अस्पताल में मेटरनिटी एवं बालरोग विशेषज्ञ की शीघ्र नियुक्ति के विषय पर भी चर्चा कर जल्द नियुक्त करने का निर्णय लिया गया। बैठक में गंदे पानी को ट्रीट करने के लिए लघु योजना की कार्रवाई को भी स्वीकृति दी गई।

तीन साल बाद हुआ जन्मभूमि पर लगे अशोक स्तंभ का लोकार्पण

महू। डॉ. आंबेडकर जन्मभूमि पर स्थापित अशोक स्तंभ का मंत्री व स्थानीय विधायक ने लोकार्पण किया। इस स्तंभ को तीन वर्ष पूर्व स्थापित किया गया था तब राष्ट््रपति द्वारा इसका लोकार्पण किया जाना था लेकिन तकनीकी समस्या होने के कारण उस समय लोकार्पण नहीं किया जा सका। डॉ. आंबेडकर स्मारक परिसर के बाहर तीन वर्ष पूर्व 2018 में अशोक स्तंभ की प्रतिकृति की स्थापना की गई थी। उस समय इसका लोकार्पण राष्ट््रपति द्वारा किया जाना था लेकिन लोक निर्माण विभाग द्वारा इसमें तकनीकी समस्या बताई गई थी जिस कारण इसका लोकार्पण नहीं हो सका। इसके बाद दो वर्ष कोरोना काल के कारण यहां न किसी प्रकार का आयोजन हो सका और न ही आंबेडकर जयंती महोत्सव मनाया गया। गुरुवार को मध्यप्रदेश की मंत्री तथा स्थानीय विधायक उषा ठाकुुर ने इस स्तंभ का लोकार्पण कर दिया। इस मोैके पर स्मारक समिति के राजेश वानखेडे सहित स्मारक समिति के सदस्य व भाजपा नेता मौजूद थे। यह स्तंभ इंजीनियर व डॉ. आंबेडकर के अनुयायी सुधीर भास्कर द्वारा स्थापित कराया गया है जिसकी कीमत ढाई लाख रुपये थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local