Mhow Crime news: पीथमपुर (नईदुनिया न्यूज)। सेक्टर एक पुलिस ने रविवार को शादी का झांसा देकर एक लाख की ठगी करने वाले मैरिज ब्यूरो संचालक सहित तीन लोगों को छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से गिरफ्तार किया। यह गिरोह अखबार में झूठा प्रचार देकर शादी का झांसा देकर ठगी करते थे। पीथमपुर के एक युवक को भी इस गिरोह ने अपना शिकार बनाया। करीब छह माह तक रोशनी मानिकपुरी ने शादी का झांसा देकर एक लाख रुपये ठगे। रोशनी ने लेखनी तिवारी के नाम से भी अतुल तिवारी को शादी का झांसा दिया।

शादी के बहाने ठगी का धंधा

पुलिस ने बताया कि फरियादी अतुल तिवारी ने अखबार में मैरिज ब्यूरो के नाम से विवाह संबंधी विज्ञापन देखकर फोन किया। इसके बाद उसकी महिला रोशनी मानिकपुरी से दोस्ती हो गई। करीब छह माह तक रोशनी मानिकपुरी ने शादी का झांसा देकर एक लाख रुपये ठगे। रोशनी ने लेखनी तिवारी के नाम से भी अतुल तिवारी को शादी का झांसा दिया। पैसे लेकर महिला ने मोबाइल बंद कर फरियादी से बात करना बंद कर दी। दूसरे प्रदेश के अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने टीम बनाई और छत्तीसगढ़ पहुंची। इसमें टीआई लोकेश भदौरिया, प्रकरण के विवेचना अधिकारी सहायक उप निरीक्षक राजेश सिलोरिया, सूरज तिवारी, महिला आरक्षक नेहा कुशवाहा ने आरोपितों के मोबाइल नंबर बैंक खातों केवाईसी आदि की जानकारी जुटाई। इसके आधार पर पुलिस ने आरोपित रोशनी मानिकपुरी उर्फ लेखनी तिवारी पत्नी महेंद्र मानिकपुरी, संगीता पुत्र सियाराम यादव गिरोह के मास्टरमाइंड मुकेश पुत्र रेशमलाल वर्मा को बिलासपुर से गिरफ्तार किया।

मां की बीमारी के नाम पर लिए रुपये

पीड़ित अतुल तिवारी ने बताया कि पहले मेरी लड़की से बातचीत कराई। धीरे-धीरे वह लडक़ी उसकी मां की बीमारी के नाम पर मुझसे थोड़े-थोड़े रुपये मांगने लगी। उसने पहले मां को अटैक आने की बात कही और अंत में मां की मौत के बहाने से मुझसे कुल 1 लाख 74 हजार रुपये ले लिए। बाद में फोन बंद कर लिया। इसके लिए मैंने अपनी एक बीघा जमीन भी बेच दी। जब लगातार फोन बंद आया तो फिर मैंने पुलिस में शिकायत की।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close