- छावनी परिषद ने शहर में सौ स्थानों पर लगवाए थे डस्टबिन

महू। घरों से निकलने वाले कचरे व गंदगी को एक स्थान पर फेंकने के लिए छावनी परिषद ने करीब दो साल पूर्व शहर के सौ स्थानों पर डस्टबिन लगवाए थे। मगर उनकी अनदेखी के कारण अनेक स्थानों से अब यह डस्टबिन टूटे पड़े हैं या फिर गायब हो गए। इस कारण अब नागरिक सड़क कि नारे कचरा व गंदगी फे ंक रहे हैं।

स्वच्छता अभियान के तहत महू छावनी परिषद ने शहर के सौ स्थानों पर डस्टबिन लगवाए थे। गीले व सूखे कचरे के लिए दो-दो बाक्स लगाए गए हैं। आरंभ के दिनों में नागरिक इसका उपयोग भी कर रहे थे। मगर धीरे-धीरे इसकी अनदेखी के कारण इनकी हालत अब खराब होने लगी है। शहर के कई स्थानों पर तो डस्टबिन गायब हो गए सिर्फ उनके एंगल ही लगे हुए हैं। यह डस्टबिन कौन निकाल ले गया इसकी जानकारी कि सी को नहीं और ना ही विभाग ने इसमें कोई रुचि दिखाई। जबकि कई स्थानों पर डस्टबिन तो हैं मगर एक कोने में टूटे पड़े हैं। इन्हें भी सुधरवाने में विभाग कोई रुचि नहीं दिखा रहा है। अगर इन्हें सुधरवाकर लगवाया नहीं गया तो ये भी गायब हो जाएंगे।

छावनी परिषद द्वारा इन डस्टबिन को लगवाने में लाखों रुपए खर्च कि ए गए है॥ इसकी देखरेख की जिम्मेदारी भी क्षेत्र के मुकादम, सफाईकर्मी की है जो परिषद के सफाई विभाग में सूचना देते हैं मगर न तो कर्मचारी ध्यान दे रहे हैं और न ही सफाई विभाग के अधिकारी। इन डस्टबिन के गायब होने या फिर टूटने के कारण अब क्षेत्र के नागरिक सड़क कि नारे सार्वजनिक स्थानों पर कचरा व गंदगी फें क रहे हैं।

इनका कहना

कु छ डस्टबिन टूट गए हैं उनकी मरम्मत करवाई जाएगी। कु छ स्थानों से हमने स्वयं हटवा दिए हैं। जिन्हें अन्य जगह लगाया जाएगा। - मनीष अग्रवाल, स्वास्थ्य अधीक्षक छावनी परिषद महू

फोटो है---

----------------

Posted By: