बेटमा। क्षेत्र में मकर संक्रांति पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। तिल-गुड़ के लड्डुओं से सभी ने मुंह मीठा किया। वहीं गायों को चारा, गुड़ खिलाने व दान-पुण्य का सिलसिला भी चलता रहा। बालकों से लेकर बड़ों तक ने गिल्ली-डंडा खेला व पतंग उड़ाई। महिलाएं पर्व के तहत मंदिर दर्शन करने पहुंची। पर्व के तहत पतंग की दुकानें विशेष रूप से सजाई गई थीं। उम्मीद के अनुसार दुकानों पर ग्राहकी भी अच्छी रही। पतंग विक्रेता मोहित जैन ने बताया कि तिरंगा, कार्टून, रंगबिरंगी पतंग के साथ कपड़े से बनी पतंगें भी बिकीं जो तीन रुपए से लेकर 200 रुपए तक के भाव बिकी, वहीं उचके व डोर की मांग भी रही।

पतंगें वितरित की : आवास कॉलोनी रहवासी संघ द्वारा मकर संक्रांति का पर्व मनाया गया। रहवासी संघ के नरेंद्र सूर्यवंशी ने बताया कि पतंग वितरण के साथ गिल्ली-डंडा प्रतियोगिता के आयोजन हुए। इस अवसर पर रणजीत मंडलोई, अमित कुमरावत, विजय मंडलोई, विक्की खत्री, निलेश चौहान, अंतिम चौहान, गोलू कुमरावत आदि उपस्थित थे।

गिल्ली-डंडे का चलन कम हुआ : धीरे-धीरे संक्रांति पर गिल्ली-डंडे का चलन भी कम होता जा रहा है। बुजुर्गों ने बताया कि पहले वे दिन भर गिल्ली-डंडा खेलते थे। आजकल वह माहौल दिखाई नहीं देता है। आरा मशीन से दस से अधिक जोड़ गिल्ली -डंडे बनवा कर दोपहर बारह बजे खुले स्थानों पर खेलने निकल जाते थे। शाम तक यह सिलसिला जारी रहता। इस दौरान कई लोगों को चोटें भी आती थीं।

विशेष श्रृंगार

सांवेर। मकर संक्रांति पर उल्टे हनुमान मंदिर पर विशेष श्रृंगार किया गया। तिल-गुड़ के लड्डू का भोग लगाया। पुजारी नवीन व्यास ने बताया कि खिचड़ी का प्रसाद वितरित किया गया।

गांजा के साथ आरोपित गिरफ्तार

सांवेर। पुलिस ने करीब चार किलो गांजे के साथ एक आरोपित को गिरफ्तार किया। पुलिस के अनुसार मुखबिर की सूचना पर धरमपुरी में रामा फास्फेट फैक्ट्री के पास एक व्यक्ति जैसे ही बस से उतरा, उसे धरदबोचा। तलाशी लेने पर युवक अजय डुडवे पिता हरकचंद डुडवे निवासी ग्राम मडगांव तहसील सेंधवा जिला बड़वानी के पास से 3 किलो 800 ग्राम गांजा (कीमत 36 हजार रु.) मिला। आरोपित के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket