बेटमा। पीर स्थान की जमीन पर बुधवार को तहसीलदार द्वारा मारोठिया परिवार को पुनः कब्जा दिया गया। कब्जा मिलते ही मारोठिया परिवार द्वारा जमीन पर अपना कब्जा होने का साइन बोर्ड लगा दिया गया।

उल्लेखनीय है कि बेटमा में पीर स्थान की जमीन पर सोमवार को राजस्व निरीक्षक महेंद्रसिंह चौहान द्वारा दूसरे पक्ष को कब्जा दिलाने की कार्रवाई की गई थी, जबकि हाईकोर्ट के स्टे के अनुसार इस जमीन पर मारोठिया परिवार का कब्जा था। मामले की शिकायत पर अपर कलेक्टर पवन जैन ने तहसीलदार को जांच कर मामले के निराकरण के निर्देश दिए थे। इसी के तहत बुधवार शाम को तहसीलदार अवधेश चतुर्वेदी, राजस्व निरीक्षक महेंद्रसिंह चौहान, पटवारी विजय भावसार पुलिस बल के साथ मौके पर उपस्थित हुए और यहा पंचनामा तैयार कर प्रमोद मारोठिया को उक्त भूमि का कब्जा दिया। मौके पर उपस्थित कासम शाह पिता रहमान शाह द्वारा पंचनामे पर हस्ताक्षर नहीं किए गए। उक्त जमीन मुस्लिम समाज के मुजावर को भरण पोषण के लिए मिली हुई थी। 1968 में मुजावर रहमान शाह ने यह जमीन नाहरसिंह को बेच दी। अवैध तरीके से जमीन बेचने पर आपत्ति आई तो एक साल बाद मुजावर ने यह जमीन 99 साल की रजिस्टर्ड लीज पर मारोठिया परिवार को दे दी थी। बाद में रहमान के बेटे कासम शाह ने यह जमीन दूसरे पक्ष को दे दी। इसे लेकर विवाद चल रहा था। हाईकोर्ट ने अप्रैल 2019 में मारोठिया परिवार के पक्ष में स्टे दिया हुआ था, लेकिन तहसीलदार के आदेश पर सोमवार को आरआई ने दूसरे पक्ष को जमीन का कब्जा दिलवा दिया था।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket