पीथमपुर-धन्नड। ग्राम बड़ी धन्नड़ में 108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ एवं पावन प्रज्ञा पुराण कथा आयोजन के प्रथम दिन कलश यात्रा निकाली गई। कलश यात्रा में 1008 बहनों ने कलश धारण किया तथा 51 बहनों ने जवारे अपने सिर पर धारण किए। 11 पौधों को मस्तिष्क पर धारण करके यात्रा में बहनें शामिल हुई। यात्रा में भारत माता व मां जगदंबा के रूप में कन्याओं को भी सजाया गया। गांव की भजन मंडली ने भी अपना पूर्ण सहयोग दिया एवं भजनों की प्रस्तुति दी। शांतिकुंज हरिद्वार से पधारी टोली के सुखदेव शर्मा, संतोष देवांगन ने मंत्रों द्वारा 1008 कलश का पूजन करवाया।

उन्होंने कहा कि आने वाला समय नारी युग होगा। अतः हमारी नारी शक्ति भारतीय संस्कृति को विश्व संस्कृति बनाने के लिए आगे आए। यात्रा में आसपास के गांव के ग्रामीणों ने भी भागीदारी की। गायत्री शक्तिपीठ पीथमपुर के मुख्य ट्रस्टी महेश पटेल ने सभी से आग्रह किया है कि यज्ञ में शामिल हो आहुतियां प्रदान करें एवं शाम 7ः00 बजे से होने वाली संगीतमय पावन प्रज्ञा पुराण का श्रवण करें। यह जानकारी गायत्री परिवार के मोहन सिंह सिसोदिया ने दी।

कलश यात्रा केसाथ होगी आज से राम कथा की शुरुआत

अजनोद। समीपस्थ ग्राम पाल कांकरिया में श्री राम कथा का आयोजन होगा ग्राम के जसवंत सिंहा ने बताया कि 22 मई को सुबह 8ः00 बजे कलश यात्रा निकाली जाएगी। सुबह 10ः00 बजे से 1ः00 बजे तक साध्वी मीरा दीदी कथा का वाचन करेंगी। कथा का समापन 30 मई को होगा। उधर अजनोद में श्री राम मंदिर में 23 से 26 मई तक श्री राम मूर्ति स्थापना का कार्यक्रम चलेगा। 23 मई को सुबह ग्राम से कलश यात्रा निकाली जाएगी। शाम को सुंदरकांड का पाठ होगा। 24 मई को देव पूजन और यज्ञ की स्थापना होगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close