बेटमा (नईदुनिया न्यूज)। नगर सहित आसपास के क्षेत्रों में गुरुवार को भी तेज बारिश हुई। रुक-रुक कर होती रही बारिश ने एक बार फिर नदी नाले-उफान पर ला दिए, वहीं कई जगहों पर जलजमाव की स्थिति निर्मित हो गई।

अलसुबह से तेज बारिश का दौर शुरू हो गया था। दोपहर तक कभी तेज तो कभी रिमझिम बारिश होती रही । इसके बाद मौसम बदल गया और तेज धूप निकल आई। रात में फिर बूंदाबांदी शुरू हो गई। तेज बारिश के चलते छोटा बेटमा स्थित तालाब में पानी की अच्छी आवक हो गई है। वहीं बदीपुरा बालाजी स्थित पुलिया पर सड़क से एक फीट उपर पानी बह निकला। यहा पूर आने से कुछ समय के लिए बेटमा-कुटी मार्ग अवरुद्घ हो गया था। इस दौरान कई वाहन चालक अपनी जान जोखिम में डालकर वाहन निकालते दिखाई दिए।

निर्माण के साथ नाले में गिरा सांड और कई वाहन

महू (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नगर की अस्सी प्रतिशत नालियों व नालों पर नागरिकों ने अतिक्रमण कर रखा है। जिससे न सिर्फ सफाई के काम में बाधा रही है बल्कि इसके चलते एक बड़ी दुर्घटना का अंदेशा भी बना हुआ है। शहर के कई क्षेत्रों में तो नाली-नालों पर तीन-चार मंजिला इमारत तक बना ली है। गुरुवार को ऐसे ही एक अतिक्रमण के गिरने से वाहन व सांड नाले में फंस गए।

अग्रसेन चौराहे के पास वर्षों पुराने नाले पर अतिक्रमण कर बंद कर दिया गया है। गुरुवार की शाम को यह अतिक्रमण गिर गया। इससे इस पर रखे चार दोपहिया वाहन और यहां खड़ा एक सांड भी उसमें गिर गया। घटना के बाद क्षेत्र में हलचल मच गई। मकान मालिक और उनकी पुत्री भी अपनी ही दुकान में क़ैद से हो गए, जिन्हें नागरिकों ने निकाला। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों द्वारा लगातार नालियों व नालों पर किए जा रहे अतिक्रमण की जानकारी विभाग को दी जाती है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जाती। गुरुवार को हुई घटना संकेत दे दिए कि शहर में कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local