गौतमपुरा (नईदुनिया न्यूज)। नगर परिषद एवं स्वास्थ्य विभाग ने नगर में फैल रहे डेंगू बीमारी की रोकथाम के लिए जन जागरण रैली निकाली, वहीं दूसरी ओर लोगों ने इस रैली को दिखावा बताया।

जिला कलेक्टर इंदौर के आदेश के निर्देशानुसार इंदौर जिले में डेंगू और मलेरिया का प्रकोप काफी हद तक बढ़ रहा है। इस संबंध में नप गौतमपुरा ने 15 सितंबर को डेंगू पर प्रहार महा अभियान हेतु जन जागरूकता के लिए नप से गांधी चौक तक रैली निकाली। नगर परिषद ने डेंगू बीमारी से बचने के लिए एक रथ बनाया, जिसे आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सीएमओ ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। गांधी चौक पर संबोधित करते हुए मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर सुनील असाटी ने कहा कि घरों की छतों पर पुराने टायर, बर्तन एवं पानी की टंकी में पड़े पानी में लार्वा पैदा होता है, जिससे डेंगू के मच्छर पनपते हैं। इससे घरों की छतों को साफ रखें एवं पानी एकत्र न होने दें। वहीं दूसरी ओर नगर की जनता ने इस रैली को सिर्फ दिखावा बताया क्योंकि नगर में डेंगू ने अपने पैर पसार लिए हैं इसके लिए नप को नगर में दवाई का छिड़काव कराना चाहिए एवं जगह-जगह बड़-बड़े गड्ढों में बरसात का पानी जमा हो रहा है। उसकी सफाई अभी तक नहीं हो पा रही है, वही अचलेश्वर मंदिर पर नाले में गंदगी से मच्छरों का प्रकोप बढ़ रहा है। वहीं एक माह से एक भी बार नप ने दवाई का छिड़काव नहीं किया है। रैली में नप के पूर्व अध्यक्ष चैतन्य भावसार, भाजपा नगर अध्यक्ष प्रमोद सक्सेना, पूर्व नप उपाध्यक्ष विनोद गुर्जर, पूर्व पार्षद महेश प्रजापत, मुख्य नपा अधिकारी राजा यादव, स्वच्छता निरीक्षक आनंद राठौर एमडी बैरागी आदि मौजूद थे।

पूर्व पार्षद सुनील जोशी कहा कि नप द्वारा सिर्फ दिखावा किया जा रहा है। गौतमपुरा नगर में प्रवेश करते हैं वहीं पर गणेशजी की मूर्ति विराजित है। वहां पर तालाब की तरह पानी भरा हुआ है। लोग पानी में खड़े रहकर आरती उतार रहे हैं, मगर नप कर्मचारी सुनने को तैयार नहीं हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local