टोड़ी-मांगलिया। ग्राम रामपिपलिया में सड़क निर्माण कंपनी के ठेकेदार और गांव वालों के बीच गांव की शासकीय तलाई से मुरम-पत्थर निकाल ले जाने पर बुधवार को दो घंटे की माथापधाी के बीच ग्रामीण सहमत हो गए। तत्काल ठेकेदार ने मुरम-पत्थर निकालने के लिए तलाई में पोकलेन मशीन भी पहुंचा दी। ग्रामीणों और ठेकेदार के बीच सहमति बनी है कि अगर ठेकेदार 400 डंपर मुरम-पत्थर निकालता है तो 100 डंपर गांव जंगल के रास्ते पर डालना पड़ेगा।

गुरुवार सुबह 11 बजे से ठेकेदार कार्य का शुभारंभ करेगा। इस संबंध में गत दिवस तहसीलदार तपिश पांडे ने भी गांव में मौके पर पहुंच कर ग्रामीणों को समझाया था, लेकिन ग्रामीण माने नहीं थे और ग्रामीण अपने खेतों के मार्ग सुधार के लिए अडिग थे।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत ग्राम गारीपिपलिया से जस्साकराडिया मार्ग का निर्माण कार्य चल रहा है। उक्त मार्ग निर्माण कार्य सदगुरु कंस्ट्रक्शन कंपनी के हेमंत आचार्य ने ठेका लिया है। निर्माण मार्ग पर मुरम-पत्थर भरने के लिए कंपनी ने रामपिपलिया के जंगल स्थित शासकीय तलाई की प्रशासनिक अनुमति ले ली, बावजूद ग्रामीणों ने ठेकेदार को खोदने से इंकार कर भगा दिया था।

विधायक व मंत्री तुलसी सिलावट के प्रतिनिधि के रूप में आए महेश मंत्री और भाजपा नेता मनोज मिश्रा दोनों सुबह 10 बजे रामपिपलिया गांव पहुंचे। गांव वालों को भी तलाई पर बुलाया गया। दो घंटे की जद्दोजहद के बाद ठेकेदार हेमंत आचार्य और ग्रामीणों में सहमति कुछ शर्त पर बन गई।

यह हैं शर्तें

ठेकेदार द्वारा जहां पशुओं के चरने की भूमि है, उस हिस्से में खनन नहीं किया जाए। अगर ठेकेदार 400 डंपर मुरम-पत्थर निकालता है तो 100 डंपर हमारे गांव जंगल के रास्ते पर डालना पड़ेगा। पहले तो ठेकेदार राजी नहीं हुआ। फिर ग्रामीण आक्रोशित होकर बोले- फिर तलाई से मुरम भी नहीं खोदने देंगे। महेश मंत्री, मनोज मिश्रा ने ठेकेदार हेमंत आचार्य को फिर समझाया। समझाने पर फिर ठेकेदार ने दोनों नेताओं की बात मानते हुए 100 डंपर मुरम डालने पर राजी हुआ। इस दौरान तेजाबसिंह पंवार, हरिसिंह पंवार, नागुसिंह पंवार, जीवनसिंह चौहान, बनेसिंह चौधरी, इंदरसिंह पंवार, सोदानसिंह चौहान, मेहरबानसिंह चौधरी आदि किसान मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस