धन्नड़ (नईदुनिया न्यूज)। प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी शरद पूर्णिमा के अवसर पर संत सिंगाजी के निशान निकाले गए। घर-घर सिंगाजी के निशान की पूजा की गई। मंदिर पर मन्नतें पूरी होने पर तुलादान किया गया।

अन्य ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों से आए श्रद्घालुओं का उत्साह देखने लायक था। संत सिंगाजी के भजन गायक तेजराम पटेल द्वारा बताया गया कि ग्राम धन्नड़ में संत सिंगाजी मंदिर निर्माण को 100 वर्षों से भी अधिक समय हो गया है। यहां पर श्रद्घालुओं की भीड़ हर शरद पूर्णिमा पर होती है व धीरे-धीरे मन्नत पूरी होने पर यहां सिंगाजी महाराज के प्रति आस्था बढ़ती जा रही है। अब तो यह आलम है कि सुबह से ही तुलादान का कार्यक्रम शुरू हो गया, जो देर शाम तक चलता रहा। पूरे गांव में निशान के पूजन के बाद मंदिर पर महाआरती की गई। आरती में महिलाओं व ग्रामीणों की उपस्थिति असीमित रही। महाआरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया। इसके पूर्व चौदस की रात में निमाड़ की भजन मंडली द्वारा संत सिंगाजी के भजनों की प्रस्तुति दी गई। 'गुरु सिंगाजी का आया हो निशान चलो रे संत देखन को', 'सिंगाजी शरद पूनम के चांद' जैसे अनेक भजन सुनाए।

शरद पूर्णिमा पर मनाया टेकचंद गुरुदेव का समाधि महोत्सव

देपालपुर। श्री दामोदर वंशीय जूना गुजराती दर्जी समाज की अखिल भारतीय टेकचंदजी महाराज ट्रस्ट कड़छा द्वारा संतश्री टेकचंदजी महाराज के 210वें समाधि महोत्सव शरद पूर्णिमा पर तपोस्थली गुरुधाम कड़छा में हर्ष व उल्लास के साथ मनाया गया। इसमें समाज बंधु एवं गुरु भक्तों ने गुरु देव के दर्शन कर पुण्य लाभ लिया। उक्त जानकारी देते हुए। ट्रस्ट अध्यक्ष मोहनलाल चौहान (सांवेर), ट्रस्ट सचिव नरेंद्र पडिहार ने बताया कि आयोजन शासन के आदेशानुसार कोरोना 19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए किया गया। इस वर्ष भी मेले का मुख्य आयोजन नहीं किया गया। प्रातः 9 बजे गुरु महाराज का अभिषेक किया गया एवं दोपहर 12 बजे महाआरती श्रीगुरू टेकचंद उत्सव समिति के तत्वावधान में हुई। मुख्य आरती रात्रि 12 बजे की गई।

श्री सांवरिया सेठ ग्रुप (एसएस ग्रुप इंदौर) द्वारा मंदिर की सज्जाा एवं प्रसादी वितरण कर छप्पन भोग लगाया। इस अवसर पर खुजनेर (राजगढ़) से पदयात्रा कर आए पदयात्री व सहकारी साख संस्था इंदौर के संचालक मंडल में निर्वाचित हुवे सोहनलाल परमार का सम्मान किया गया। शाम को गुरु महाराज की पालकी यात्रा निकाली गई। दिलीप परमार (देवास), नरेंद्र परमार (इन्दौर), कोषाध्यक्ष मनीष सोलंकी (उज्जौन), ट्रस्टी सुभाष गोयल (बेरागड), रमेश चंद्र डाबी (कन्नोद), रूप किशोर सोलंकी (इन्दौर), धनराज महेश्वरी (इन्दौर), हेमराज सोलंकी देवगढ़),गोपाल परमार (इन्दौर), शान्तिलाल पवांर (इन्दौर) महेश चौहान (बेगन्दा), कड़छा प्रभारी हीरालाल परमार (राऊ) आदि उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local