मुरैना। चंबल पर कोटा में बने बैराज से बुधवार को 14 गेट खोल दिए गए। इन गेटों से चंबल नदी में 2.8 लाख क्यूसिक पानी प्रति सेकंड छोड़ा जा रहा था। गुरुवार तक चंबल नदी फिर से उफान पर आ जाएगी।

इस बार चंबल के राजघाट पुल के ऊपर से पानी निकल सकता है। साथ ही चंबल के किनारे के गांव एक बार फिर से पानी से घिर सकते हैं। हालांकि प्रशासन ने गांवों में अलर्ट जारी कर सरकारी अमले को सतर्क किया है। बता दें कि 17 अगस्त को चंबल उफान पर आई थी।

18 को चंबल का पानी खतरे के निशान से 2.5 मीटर ऊपर यानि 140.50 मीटर तक पहुंच गया था। पुल से महज 1.50 मीटर ही पानी नीचे रह गया था। इससे चंबल नदी के किनारे के 89 गांव प्रभावित हुए थे। इनमें से 14 के करीब गांव पूरी तरह से पानी घिर गए थे और प्रशासन को रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर ग्रामीणों को बाहर निकालना पड़ा था।