मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। मानसून सीजन में डामर की सड़क निर्माण पर रोक रहती है, लेकिन मुरैना नगर निगम के अफसर और ठेकेदारों ने सांठगांठ करके बारिश के सीजन में भी डामर की सड़कें बना डाली।अब यह सड़कें बारिश के पानी में उखड़ने और बहने लगी हैं। कमीशनखोरी के लिए हुए इन निर्माणों पर करोड़ों रुपये बर्बाद तो गया ही, साथ ही राहगीर व वाहन चालकों की फजीहत भी हो रही है। इन जर्जरहाल सड़कों पर वाहनों का निकलना दूभर हो गया है।

गौरतलब है कि मानसून सीजन में 15 जून से 15 अक्टूबर तक डामर की सड़क निर्माण पर इसलिए प्रतिबंध रहता है, क्योंकि बारिश व जलभराव के कारण डामर-गिट्टी सही सेट नहीं हो पाते और सड़क कमजोर रह जाती है। इसके बाद भी मुरैना नगर निगम ने बीते एक महीने में बारिश की झमाझम के बीच संजय कालोनी चौराहा से लेकर वनखंडी चौराहा तक की सड़क, उसके बाद नाला नंबर एक पर पुराने बीआर गार्डन से लेकर अंबाह बायपास तक की करीब पौने दो किलोमीटर लंबी सड़क का आधे से ज्यादा हिस्सा बना डाला।नगर निगम चुनाव की आचार संहिता के बीच भी शहर की व्यस्त सड़कों में शामिल सीताराम-पतिराम धर्मशाला वाली रोड का भी कुड हिस्सा बारिश की झमाझम के बीच बना है।

झमाझम के बीच बनीं सड़कों में फंस रहे वाहनः

बारिश के बीच बनी इन सड़कों की हालत ऐसी है, कि वनखंडी रोड के कई किनारे धंसकर गड्ढे होने लगे है। नाला नंबर एक पर बीआर गार्डन से लेकर अंबाह बायपास तक की डामर सड़क का निर्माण झमाझम बारिश के बीच हुआ, इसके वीडियो तक इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुए थे, फिर भी नगर निगम के अफसरों ने सड़क निर्माण पर रोक नहीं लगाई।अब इस सड़क की हालत ऐसी है कि बालाजी गार्डन के पास सड़क के नीचे से पानी निकल रहा है, इस कारण डामर की सड़क उखड़कर गड्ढा बन गई हैं। जगह-जगह सड़क की गिट्टी उखड़कर बिखर रही हैं। इस सड़क की सबसे बुरी दुर्दशा अंबाह बायपास तिराहे के पास हुई है, जहां सड़क पूरी तरह उखड़कर दलदल बन गई। इस सड़क से वाहनों का निकलना दूभर हो गया है। शुक्रवार को यहां रेत से भरा एक ट्रक फंस गया।

उधर सीवर लाइनों के ऊपर सड़कें धंस रहीं:

सीवर लाइन बिछने के बाद शहर में बनी सीसी सड़कें और खुदाई के बाद जर्जर हुई जिन सड़कों की मरम्मत की गई है, वह भी बारिश का सामना नहीं कर पा रही। सीवर लाइन के ऊपर बनीं यह सड़कें जगह-जगह धंस रही हैं। स्टेशन रोड थाने के सामने बनी सड़क दो बार धंसकर गड्ढा बन गई है। इसी तरह गर्ल्स स्कूल रोड, कृषि उपज मंडी के पास वाली सड़क, संजय नगर कालोनी, केशव कालोनी, इस्लामपुरा, तुस्सीपुरा क्षेत्र में सीवर लाइन पर बनी सड़कें धंसकर गड्ढा बन गई हैं, जिनके कारण हादसों का डर रहता है, क्योंकि शहर में अधिकांश स्ट्रीट लाइट बंद पड़ी हैं।

वर्जन

- कुछ सड़क बारिश में बन गईं, लेकिन अब उन पर पूरी तरह रोक लगा दी है। जिन ठेकेदारों ने बारिश के सीजन में सड़क निर्माण किया है, उन्हीं की पूरी गारंटी है। मैंने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि इन सड़कों की मरम्मत ठेकेदार ही करेगा, हमें अच्छी हालत में और मानकों अनुसार सड़क चाहिए। अन्यथा ठेकेदारों का भुगतान नहीं होगा।

संजीव जैन,आयुक्त, ननि मुरैना

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close