फोटो, 48ए-गल्ला मंडी में लोगों की जांच करते डॉक्टर।

-सुबह 5 बजे पहुंचे थे पोरसा फिर चले गए घर, जांच के लिए बाद में बुलाया

पोरसा। कस्बे के 40 लोग 12 दिनों की यात्रा करने के बाद मंगलवार को अपने घर आ गए। इन लोगों ने आने की सूचना प्रशासन को नहीं दी। जानकारी जब प्रशासनकको लगी तो दोपहर के समय सभी को गल्ला मंडी में इकट्ठा किया। इसके बाद पोरसा के डॉक्टरों ने लेजर थर्मामीटर से सभी की जांच की। इसके बाद उन्हें क्वारंटाइन होने के आदेश देकर घर भेजा। खासबात यह रही कि सुबह पांच बजे आने के बाद वे दोपहर तक पता नहीं कितने लोगों के संपर्क में आए।

उल्लेखनीय है कि पोरसा कस्बे के 40 लोग गत 12 मार्च को यात्रा के लिए बस द्वारा निकले थे। इस दौरान वे बिहार, इलाहबाद होते हुए मंगलवार को सुबह 5 बजे पोरसा पहुंचे और प्रशासन को बिना सूचित किए अपने घर चले गए। सूचना मिलने पर दोपहर 2 बजे सभी को गल्ला मंडी में इकट्ठा किया गया। फिर अस्पताल के डॉ. पीपी शर्मा व उनकी टीम ने सभी लोगों का लेजर थर्मामीटर से परीक्षण किया। इसके साथ ही सभी के नाम, पते व उनकी लोकेशन के बारे में पूरी जानकारी इकट्ठा की। इस दौरान सभी लोगों को अपने घर में ही क्वारंटाइन करने की सलाह दी गई। खासबात यह है कि यात्रा पर गए लोगों में बुजुर्गों की संख्या ज्यादा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना