फोटो, 40ए-धरने पर बैठे रामपुर के ग्रामीण। फाइल फोटो।

40बी-पोर्टल पर लिखा हुआ पेंडिंग फॉर एप्रूवल।

-किसानों ने किया था सम्मान निधि के लिए आंदोलन

रामपुरकलां। सबलगढ़ विकासखंड के घाटी नीचे के क्षेत्र की ग्राम पंचायत रामपुरकलां के कई किसान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लिए एक साल बाद भी भटक रहे हैं। किसानों ने लाभार्थियों की सूची में शामिल होने के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा किए थे। साथ ही दस्तावेज की सूची भी राजस्व विभाग के कर्मचारियों को उपलब्ध कराई गई थी, लेकिन जब किसानों द्वारा पीएम सम्मान निधि पोर्टल पर अपना पंजीयन नंबर डालकर चेक किया जाता है तो पोर्टल पर स्टेटस दिखाई देता है। लेकिन उसमें पेंडिंग फॉर एप्रूवल दिखाई देता है। खासबात यह है कि इसके लिए किसान आंदोलन तक कर चुके थे। तब उन्हें आश्वासन दे दिया गया था। इसके बावजूद यह राशि आज तक उपलब्ध नहीं हो सकी है।

उल्लेखनीय है कि देश के प्रधानमंत्री ने किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए फरवरी 2019 में पीएम किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की थी। यह योजना किसानों के लिए संजीवनी से कम नहीं थी। क्योंकि किसान खेती किसानी की लागत के समय आर्थिक बोझ के कारण साहूकारों से पैसे लेने व उधार खाद बीज उठाने के लिए विवश हो जाते हैं। जिसकी भरपाई उन्हें मय ब्याज के साथ खरीफ व रबी फसलों की उपज बेचने के समय करनी पड़ती है। लेकिन इस योजना को एक साल पूरा होने के बाद भी रामपुर के कुछ किसान अभी तक इस राशि को पाने के लिए भटक रहे हैं। किसान सम्मान निधि के पैसे खाते में आए कि नहीं, यह देखने बैंक के चक्कर लगाने को विवश हो रहे हैं। जबकि किसानों से जुड़ी इस योजना में अभी तक कुछ किसानों के खातों में पहली, दूसरी, तीसरी किस्त का वितरण किया जा चुका है। वहीं कुछ किसान अभी भी इस योजना से वंचित बने हुए हैं। खासबात यह है कि लॉकडाउन के दौरान केंद्र सरकार द्वारा 2 हजार रुपये डायरेक्ट ट्रांसफर के माध्यम से किसानों के खातों में राशि आनी थी, वह भी अभी तक नहीं आ सकी है।

आंदोलन के दौरान दिया गया था आश्वासन

सम्मान निधि व पेयजल के लिए रामपुर गांव के ग्रामीणों ने कई दिनों तक धरना प्रदर्शन किया था। तब नायब तहसीलदार नरेश शर्मा ने धरना स्थल पर पहुंचकर किसानों को आश्वासन दिया था। तब नायब तहसीलदार ने कुछ कागजों की कमी भी बताई थी, लेकिन धरने के बाद किसानों ने अपने कागज जमा करा दिए। इसके बावजूद यह निधि नहीं मिल सकी है। अभी तक पीएम सम्मान निधि के पोर्टल पर ग्राम रामपुर के 500 लाभार्थी की सूची पोर्टल पर अपलोड की गई है। जबकि तत्कालीन नायब तहसीलदार नरेश शर्मा ने धरना के समय मंच से खुद रामपुर के लोग की सम्मान निधि की समस्या को तहसीलदार के आईडी पासवर्ड लेकर फार्मों को अप्रूव करने की बात कही थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना