मुरैना (नईदुनिया न्यूज)। पोरसा तहसील के इन्नीखेड़ा गांव के बाजरा के खेत में सिक्के (दीनारें) निकलने का मामला रहस्य बनता जा रहा है। खेत से दो तरह की धातु के सिक्के निकले, जिसमें से सोने की तरह चमकीले सिक्के अब तक पुरातत्व विभाग के भी हाथ नहीं लग पाए हैं। नाराज जिला पुरातत्व अधिकारी ने कलेक्टर को सौंपी रिपोर्ट में कहा है कि इस मामले में नगरा पुलिस ने जांच में मदद नहीं की और लगातार गुमराह किया।

गौरतलब है कि इन्नाीखेड़ा गांव में 10 से 15 अगस्त के बीच रामलखन सिंह तोमर के खेत में चमकीले सिक्के निकले। बताया गया है कि खेत मालिक, ट्रैक्टर ड्राइवर सहित कई लोग इन सिक्कों को समेट कर ले गए। घटना का ग्रामीणों को तब पता चला जब पांच-छह दिन से एक बुजुर्ग लोटा लेकर सुबह-शाम खेत पर आता और मिट्टी की खुदाई करने लगता। कुछ युवकों ने उक्त ग्रामीण का लोटा छीन लिया तो उसमे सोने जैसे चमकीने सिक्के निकले।

इसके बाद गांव के कई लोगों द्वारा इस खेत से सिक्के ले जाने की बात कही जा रही है। चार से पांच दिन तक ग्रामीणों ने इस खेत से सिक्के निकाले। इनमें तांबे के अलावा सोने की तरह चमकने वाले सिक्के हैं। ग्रामीणों के अनुसार यहां अच्छी-खासी संख्या में सिक्के निकले हैं, लेकिन पुरातत्व विभाग के हाथ कुछ नहीं लगा।

पुलिस की भूमिका संदेह के घेरे में

नगरा पुलिस को 14 अगस्त को बाजरा के खेत में संदिग्ध सोने के सिक्के निकलने की जानकारी लग गई। इसके बाद दिनभर यहां पुलिसबल तैनात रहा और ग्रामीणों को हटाकर पुलिसकर्मियों ने भी खेत में कई जगह खुदाई करके सिक्के ढूंढे। सिक्के तलाशने के दूसरे दिन पुरातत्व अधिकारी को सूचना दी गई।

10वीं शताब्दी के हैं यह सोने के सिक्के

खेत से निकले इन सिक्कों पर अरबी भाषा में लिखा है। जानकारों के अनुसार यह सिक्के वर्ष 1050 के आसपास के हैं। इन सिक्कों को तात्कालीन शासक शाह अल्तमस ने चलाया था, जिनमें कुछ मात्रा में सोने की मिलावट होती हैं। इन सिक्कों में अरबी भाषा मंे दीनार लिखा हुआ है। इसके अलावा शाह अल्तमस का नाम व अरबी के साल 1100 हिजरी का भी जिक्र है।

इनका कहना है

- इन्नीखेड़ा गांव के खेत से निकले सिक्कों में सोने के सिक्के होने का पूरा अनुमान है, लेकिन नगरा पुलिस ने समय पर इसकी सूचना नहीं दी और बाद में भी गुमराह किया गया। मैंने रिपोर्ट मेें सारी बातें कलेक्टर को बता दी है।

- अशोक शर्मा, पुरातत्व अधिकारी मुरैना

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local