पोरसा (मुरैना)। पोरसा थाने के आरक्षक व टीआई के बीच रविवार-सोमवार की दरमियानी रात मारपीट हो गई। जख्मी आरक्षक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटनाक्रम के बाद एसपी डॉ. असित यादव ने आरक्षक को निलंबित कर दिया। जानकारी मुताबिक पोरसा थाने में पदस्थ आरक्षक हरेन्द्र सिंह तोमर रविवार रात को 9 बजे से 12 बजे तक थाने पर पहरा देने के बाद राइफल को जमा कर पास ही बने टीआई सिद्धार्थ प्रियदर्शन के घर पहुंच गया।

जहां वह टीआई से बात करना चाह रहा था। उस समय हरेंद्र से टीआई नेसो जाने की बात कही। नशे में आरक्षक फिर से टीआई के घर पहुंच गया। तब टीआई प्रियदर्शन निकले और आरक्षक से विवाद शुरू हो गया, जिसके बाद टीआई ने आरक्षक की पिटाई कर दी।

थाने के अन्य आरक्षक मौके पर पहुंचे, जिन्होंने जख्मी आरक्षक को पहले पोरसा फिर जिला अस्पताल में भर्ती कराया। मारपीट की सूचना मिलने पर एसडीओपी आरकेएस राठौर भी रात में ही पोरसा थाने पहुंच गए। हालांकि पुलिस विवाद की कोई वजह नहीं बता रहा है। टीआई प्रियदर्शन का कहना है कि आरक्षक हरेन्द्र उनके गेट में लात मारने के साथ ही गाली-गलौज कर रहा था। हाथापाई जैसी कोई बात नहीं है।

एसडीओपी ने अन्य थानों का पुलिस बल बुलाया

आरक्षक व टीआई के बीच हुई मारपीट के बाद एसडीओपी आरकेएस राठौर रात दो बजे थाने पर पहुंच गए। एसडीओपी ने रजौधा चौकी, नगरा से भी पुलिस बल को बुला लिया। बल बुलाने के पीछे कारण बताया जाता है कि आरक्षक हरेन्द्र पास के ही महुआ गांव का रहवासी है। ऐसे में विवाद होने से किसी तरह की कानून की व्यवस्था न बिगड़े, जिसके चलते ऐहतियातन पुलिस बल को भी बुला लिया गया।

- आरक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इस पूरे मामले की जांच कराई जा रही है। - डॉ. असित यादव, एसपी मुरैना