मुरैना। Coronavirus in Morena : नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना से निपटने के लिए मुरैना जिले में भी लॉकडाउन है। लोगों को शारीरिक दूरी बनाने को कहा गया है। ऐसी स्थिति में जब कोई अपना साथ छोड़ जाए तो सांत्वना देने वालों की जरूरत होती है, लेकिन मुरैना में एक पिता ने अपने इकलौते बेटे के निधन पर अपने दुख से ज्यादा समाज की कोरोना से सुरक्षा को महत्व दिया है। मिल एरिया रोड निवासी प्रदीप अवस्थी ने अपने परिचितों को वाट्सएप मैसेज कर अपील की है कि वे अपने घरों पर ही रहें और वाट्सएप के जरिए ही उनके दुख में साथ दें। प्रदीप अवस्थी भाजपा नेता और शासकीय ठेकेदार हैं। आठ अप्रैल को उनके 27 वर्षीय बेटे यशवंत को पेट दर्द हुआ और बाद में उसकी मौत हो गई।

इकलौते बेटे को खोने के गम के बीच अवस्थी परिवार ने कोरोना संबंधी गाइडलाइन का पालन करते हुए यशवंत का अंतिम संस्कार किया। परिवार को धीरज बंधाने के लिए आसपास के लोगों ने पुलिस से छिपते-छिपाते उनके यहां आना शुरू किया।

इस पर अवस्थी ने जिम्मेदार नागरिक होने का फर्ज निभाया और सभी से अपील की कि वे ऐसा कर कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई को कमजोर न करें। शहर के सोशल मीडिया ग्रुपों पर शुक्रवार सुबह सवा 8 बजे प्रदीप अवस्थी ने संदेश लिखा कि कोविड-19 के प्रकोप को देखते हुए आप सभी शोक संवेदना मेरे घर न आकर वहाट्सएप पर ही व्यक्त करने का कष्ट करें। दुख की इस घड़ी में पिता की इस अपील पर लोग भावुक हो गए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना