मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। निर्माणाधीन मकान अचानक से भरभरा कर ढह गया। मकान के अंदर एक महिला अपने दो साल के मासूम के साथ मौजूद थी। मलबे के नीचे दबने से मासूम बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई, जबकि महिला गंभीर रूप से घायल हो गई, नाजुक हालत में कैलारस से मुरैना जिला अस्पताल रेफर किया गया है।

बुधवार की दोपहर यह घटना कैलारस थाना क्षेत्र के गस्तौली गांव में घटी। गस्तौली गांव निवासी प्रमोद जाटव अपने मकान का निर्माण करवा रहा था। इसी दौरान एक मंजिला मकान भरभरा कर ढह गया। जिस समय यह हादसा हुआ था, तब प्रमोद जाटव की पत्नी पूनम उम्र 22 वर्ष मकान के अंदर शटरिंग से निकाली गई कीलों को इकट्ठा कर रही थी। पास में ही दो साल का बेटा सार्थक खेल रहा था। जैसे ही मकान गिरा तो पूनम और सार्थक उसके नीचे दब गए। करीब डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद ग्रामीणों ने मलबा हटाकर पूनम को निकाला, जिसे नाजुक हालत में कैलारस अस्पताल लेकर आए, जहां से डाक्टर ने तत्काल मुरैना रेफर कर दिया। निर्माणाधीन मकान के मलबे से लहूलुहान हालत में मासूम सार्थक को भी निकाला गया, जिसे अस्पताल ले जाने पर डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। हादसे की सूचना मिलते ही तहसीलदार भरत कुमार, एसडीओपी संजय कोछा आदि भी मौके पर पहुंचा। बताया गया है कि निर्माणाधीन मकान की छत पर मजदूरों ने रेत व ईंटों का जमावड़ा कर रखा था। संभवतः इस वजन से ही मकान ढहा है। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में दो साल के सार्थक की मौत पर मर्ग का केस दर्ज किया है।

वर्जन

- गस्तौली गांव में यह हादसा हुआ है। मलबे में दबने से दो साल के बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई, बच्चे की मां गंभीर घायल है, जिनका इलाज मुरैना जिला अस्पताल में चल रहा है। हादसे के कारणों की जांच की जा रही है।

संजय कोछा

एसडीओपी, कैलारस

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close