मुरैना (नईदुनिया प्रतिनिधि)। LockDown in Morena : मुरैना शहर के इस्लामपुरा में रहने वाले एक युवक के घर पर तीन दिन से राशन नहीं था। राशन खरीदने के लिए पैसे भी नहीं थे। ऐसे में जब बुधवार को तीनों बच्चों ने खाना मांगा तो युवक ने जहर खाकर खुदकुशी का प्रयास किया। उसे गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद मौके पर न तो पुलिस पहुंची और न ही प्रशासन।

कुछ स्वयंसेवियों को इस बात का पता चला तो उन्होंने राशन की किट जरूर युवक के घर पर पहुंचा दी। घटनाक्रम के मुताबिक इस्लामपुरा में नई मस्जिद के पास रहने वाला 27 वर्षीय देवेन्द्र राठौर चाट का ठेला लगाता है। बड़ा भाई व माता-पिता भी उसी झोपड़ीनुमा घर में रहते हैं। भाई भी चाट का ठेला लगाता है। पिता मजदूरी करते हैं। तीनों ही अलग-अलग रहते हैं। देवेन्द्र के तीन बच्चे हैं।

अस्पताल में भर्ती देवेन्द्र की मां मीरा ने बताया कि जो भी बचत थी उससे लॉकडाउन में अभी तक खाने पीने का काम चला। तीन दिन पहले राशन खत्म हो गया। उसके पास बीपीएल कार्ड भी नहीं है। बच्चे खाना मांग रहे थे। बुधवार को भी बच्चों ने खाना मांगा तो देवेंद्र ने घर में रखा जहर खा लिया। घर वालों को इस बात का पता चला तो वे उसे लेकर अस्पताल ले गए।

प्रशासन के दावे की पोल खुली

देवेन्द्र व उसके घर के आसपास रहने वाले लोगों ने बताया कि यहां तक कोई भी राशन लेकर नहीं आया है। किसी तरह की मदद नहीं मिली। जब इस संबंध में एसडीएम आरएस बाकना से बात की गई तो उनका कहना था कि उनकी जानकारी में मामला नहीं है। जब उनसे पूछा गया कि प्रशासन दावा करता है किसी को भूखा सोने नहीं दिया जाएगा और गरीबों को राशन बंट रहा है तो इस सवाल पर वे चुप्पी साध गए।

इनका कहना है

'घटना की जानकारी मिली है। युवक ने जहर खाया है, लेकिन उसने राशन या भूख की वजह से नहीं खाया। उसका पत्नी से कुछ विवाद था। पार्षद ने युवक के यहां राशन पहुंचाया है।

-प्रियंका दास, कलेक्टर, मुरैना

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना