मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। इसे बेगारी का असर कहिए या नशे की लत या बुरी सौगत का परिणाम कि पुलिस थानों में अपनी ही संतान के खिलाफ प्रताड़ना की बढ़ रहीं शिकायतें समाज को आइना दिखाने वाली हैं। मुरैना जिले के पुलिस थानों से लेकर कलेक्टर व एसपी की जनसुनवाई में लगतार ऐसी शिकायतें बढ़ रही हैं, जिनमें बूढ़ी मां या पिता अपनी ही संतान से बचाने की गुहार लेकर पहुंच रहे हैं। ऐसे मामलों में जिला प्रशासन व पुलिस तत्काल कार्रवाई भी कर रहा है, लेकिन यह मामले खत्म होने का नाम नहीं ले रहे।

शुक्रवार की सुबह स्टेशन रोड थाने में क्षत्रिय पुरा की रहने वाली 67 वर्षीय बुजुर्ग कुसुम छारी रोते-रोते पहुंची। पहले तो बुजुर्ग महिला थाने के बाहर कर्मचारियों से कह रही थी, उसके बेटे से उसे बचा लो। इसके बाद महिला को टीआइ आशीष राजपूत के पास ले जाया गया, जहां टीआइ को देखते ही बुजुर्ग महिला फूट-फूटकर रोने लगी और हाथ जोड़ते हुए कहा कि उसका बेटा उसे बात-बात पर मारता है। अब तो वह घर के अंदर ही मारपीट करता था, लेकिन गुरुवार की रात तो उसने बाल पकड़कर घर से बाहर सड़क तक घसीटा और गली में बुरी तरह मारपीट की। बेटे के डर से कोई पड़ोसी या मोहल्ले वाला बचाने नहीं आया, वह मुझे पीटता रहा। इसके बाद कड़ाके की सर्दी में घर से बाहर निकाल दिया। पूरी रात सड़क किनारे ठंड में ठिठुरते हुए बिताई है। बुजुर्ग महिला ने बेटे द्वारा की गई मारपीट के निशान भी बताए। बुजुर्ग महिला के अनुसार उसका बेटा पंकज छारी घर को बेचना चाहता है, जिसके लिए तैयार नहीं। इसी बात पर वह प्रताड़ित करता है। पीड़ित मां की शिकायत पर आरोपी बेटे को पकड़कर थाने लाया गया और मामला दर्ज कर उसे जेल भेज दिया। टीआइ ने बुजुर्ग महिला से कहा कि आप इसकी जमानत मत कराना, अब यह सुधरने के बाद ही जेल से बाहर आएगा।

बेटा और बहू दोनों मारते हैं, घर से निकाल दियाः

स्टेशन रोड थाने में ही लालौर गांव की बुजुर्ग महिला मछला कुशवाह अपने बीमार पति रामप्रकाश कुशवाह को लेकर पहुंची और रोते-रोत बताया कि उसका बेटा और बहू उन्हें पीटते हैं। महिला के अनुसार उसका बड़ा बेटा इंदल कुशवाह उनकी देखभाल करता है, खर्च के लिए पैसे देता है, लेकिन वह काम पर चला जाता है तो पीछे से छोटा बेटा मुकेश और उसकी पत्नी रूमाली दोनों मिलकर मारपीट करते हैं। बुुजुर्ग महिला ने रोते-रोते कहा कि छोटा बेटा कोई काम नहीं करता और मुझसे कहा है कि काम पर जाकर कुछ कमाओ और मुझे दो। बड़ा बेटा जो पैसे देता है वह भी छोटा बेटा छीन लेता है। छोटे बेटे के साथ उसकी पत्नी रूमाली ने मायके तालपुरा से अपने भाइयों को बुलाकर हमें घर से निकाल दिया है। बुजुर्ग दंपती की पीड़ा सुनकर थाना प्रभारी ने बेटे के खिलाफ कामयी कर जेल भेजने की बात कही, तो मां फफक-फफककर रोने लगी और बोली कि ऐसा मत करो। उसे यहां बुलाकर डाट-फटकार लगा दो, जेल मत भेजो। मैं उसे जेल में नहीं देख पाऊंगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local