भितरवार। नहर में डूबे लापता युवक का शव दूसरे दिन करीब 27 घंटे के रेस्क्यू के बाद घटनास्थल से करीब 100 मीटर दूरी पर मिला। यह युवक अपने परिवार के साथ पूजा पाठ करने ग्वालियर से आया था। जो नहाने के लिए नहर में उतरा था। लेकिन अचानक वह तेज बहाव के बीच आ गया था। जिसे बचाने के लिए उसकी मां और दो बहनें नहर में कूंदी। जिनमें कोई भी तैरना नहीं जानता था। जिनकी चींख पुकार सुनकर ग्रामीणों ने नहर में कूद कर तीन लोगों को तो बचा लिया था लेकिन युवक बह गया था। जिसे खोजने के लिए रेस्क्यू चलाया गया था। पर वह नहीं मिला। वहीं गुरुवार की सुबह 7 बजे तहसीलदार शिवदयाल धाकड़ के नेतृत्व में एक बार फिर रेस्क्यू शुरू किया गया जो निरंतर देर शाम तक जारी रहा। इस दौरान लगभग 27 घंटे चले रेस्क्यू के बाद शाम 5 बजे घटनास्थल से 100 मीटर की दूरी पर रेस्क्यू टीम को उक्त युवक का शव नहर के गले में पड़ी झाड़ियों में उलझा हुआ मिला। जिसकी शिनाख्त मौके पर उपस्थित मृतक के पिता विनोद द्वारा 18 वर्षीय प्रमोद के रूप में की गई। जो कक्षा 10वीं का छात्र था। जो बहनें सपना, प्रियंका के बीच इकलौता था। मौके पर उपस्थित प्रशासन की टीम ने शिनाख्ती उपरांत शव को पोस्टमार्टम के लिए ग्वालियर भेज दिया है।

फोटो :

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस