मुरैना। वन विभाग के एक वनपाल ने डीएफओ व एसडीओ पर प्रताड़ना के आरोप लगाए है। इस संबंध में वनपाल ने अधिकारियों की शिकायत हर स्तर पर की है। वन परिक्षेत्र मुरैना के वनपाल बीरबहादुर सिंह कुशवाह ने बताया कि डीएफओ व एसडीओ देवेन्द्र सिंह उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे है। आलम यह है कि उनके रिटायरमेंट को महज 8 दिन शेष रह गए है तब उन्हें अकारण निलंबित कर दिया गया। जो कि नियम विरुद्ध है। वनपाल कुशवाह ने बताया कि उनकी सबरेंज मुरैना के किसी प्रकरण के प्रमाणकों का भुगतान नहीं किया जाता है। जिससे मजदूर व चौकीदार उनसे पैसों की मांग करते हैं। उन्होंने कहा कि अन्य सब रेंज के भुगतान कमीशन के आधार पर कर दिए जाते हैं। जबकि मौके पर कोई कार्य नहीं कराया जाता। दोनों अधिकारियों ने लाखों रुपये के फर्जी प्रमाणक बनावाकर भुगतान कर दिया गया है। सभी उप वनमंडल एवं अधीक्षकों का प्रभार एसडीओ देवेंद्र सिंह को दे रखा है। जिससे सभी अधिकारी कर्मचारी परेशान है। गेम रेंजर ने तो स्वेच्छिक सेवानिवृत्त के लिए फार्म 28 तक भर दिया है। इसी तरह अनापत्ति प्रमाण पत्रों के लिए पैसों की मांग की जाती है। जिसकी शिकायत जखौदा के सरपंच ने भी की है। मेरे द्वारा अवैध वसूली में साथ नहीं दिया गया तो मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। तीन महीने से वह इसकी शिकायत अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक ग्वालियर को लिखित में कर चुके हैं। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिस पर उनके रिटायरमेंट के कुछ दिन पहले निलंबित कर दिया गया। जिससे मेरी पेंशन व अन्य लाभों को रोका जा सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags