-कार को किया एंबुलेंस में तब्दील, ग्वालियर से चोरी एक सरकारी एंबुलेंस भी पुलिस ने की बरामद, 110 पेटी अवैध शराब भी की बरामद

Morena Crime News: मुरैना। मुरैना के एक टैक्सी ड्राइवर को बेहोश कर बदमाश एक महीने पहले डबरा के पास फेंक गए और उसकी गाड़ी को लूटकर ले गए। जिस पर पुलिस ने लूट का मामला दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू की। रविवार को पुलिस ने इस लूट का खुलासा करते हुए दो आरोपितों को पकड़ा है। दरअसल दोनों ही आरोपित अंतर्राज्यीय शराब तस्कर गिरोह के सदस्य है। जो एंबुलेंस में शराब की पेटियां रखकर कई राज्यों में अवैध सप्लाई करते थे। जिस टैक्सी कार को बदमाशों ने लूटा था। उसे भी एंबुलेंस में तब्दील कर डाला था। पुलिस ने इन दोनों आरोपितों से ग्वालियर से चोरी की गई एक सरकारी एंलुबेंस भी बरामद की है। जिसमें 110 पेटी अवैध शराब की बरामद की गई हैं।

एएसपी डा. राय सिंह नरवरिया ने बताया कि गत छह नवंबर को सुरेश सिंह सिकरवार की अर्टिंगा कार को कुछ युवक भाड़े पर यह कहकर ले गए कि उन्हें दतिया जाना है। जिस पर चालक नरेंद्र सिकरवार इस कार को चलाकर ले गया। लेकिन बदमाशों ने डबरा से आगे जाकर चालक नरेंद्र सिकरवार को नशीला पदार्थ खिला दिया। जिसके बाद बेहोश नरेंद्र को सड़क किनारे फेंककर अर्टिंगा कार को लूट ले गए। कोतवाली थाना पुलिस ने इस मामले में लूट का मामला दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू की। इसी बीच पता चला कि मुरैना के अंबाह बाईपास पास से होकर एक एंबुलेंस क्रमांक एमपी 07 डीए 284 नंबर में अवैध शराब भरकर ले जाई जा रही है। सरकारी एंबुलेंस होने पर पुलिस ने घेराबंदी की। इसी बीच उसे पकड़ लिया गया। जिसमें चेक किया तो पहले तो कुछ दिखाई नहीं दिया। लेकिन इसमें सवार दो युवकों को पकड़ा। इसके बाद सख्ती से पूछताछ की तो एंबुलेंस में बनाए गुप्त केबिन में 110 पेटी अवैध शराब की निकलीं। जिसकी कीमत लगभग पांच लाख रुपये है। पकड़े गए युवक अफजल पिता राहत अली निवासी उत्तमनगर नईदिल्ली व तुषार उर्फ राजा जादौन निवासी गुप्ता होटल के पास फतेहाबाद उत्तरप्रदेश से पूछताछ की तो उन्होंने इस सरकारी एंबुलेंस को ग्वालियर से चोरी करना बताया। वहीं उन्हें गिरफ्तार कर पुलिस लेकर थाने आई। इसके बाद अन्य बारदातों की पूछताछ करने पर पता चला कि मुरैना से भी अर्टिंगा गाड़ी को भी इन दोनों ने ही लूटा था। जिस पर इस अर्टिगा कार को भी पुलिस ने बरामद किया। बदमाशों ने इस कार को भी एंबुलेंस के रूप में तब्दील कर दिया था। वहीं इसके मुरैना का नंबर हटाकर एक फर्जी दिल्ली नंबर की प्लेट लगा रखी थी। दोनों ही शातिर बदमाश है। जो कई राज्यों में एंबुलेंसों से ही शराब तस्करी करते है। इनके गिरोह के दो सदस्य और है जो फरार है। जिन्हें पुलिस नामजद कर पकड़ने का प्रयास कर रही है।

इसलिए एंबुलेंस में करते थे शराब तस्करीः

दोनों ही बदमाश लगभग आधा दर्जन राज्यों में अवैध तस्करी करते थे। जहां एंबुलेंस का ही इस्तेमाल करते थे। बदमाश मप्र, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, पंजाब व बिहार में शराब तस्करी को अंजाम देते थे। इसलिए इसी तरह की चोरी के वाहनों को एंबुलेंस बनाकर उसका इस्तेमाल करते थे। एंबुलेंस बनाने के पीछे वजह बताई कि किसी भी टोल नाके या पुलिस के चेकिंग से वह एंबुलेंस का हूटर बजाते हुए निकल जाते थे। सरकारी एंबुलेंस को उन्होंने ग्वालियर के कंपू थाना क्षेत्र के चोरी किया था। वहीं एक गाड़ी और चाहिए थी। इसलिए उन्होंने चालक नरेंद्र सिकरवार से अर्टिगा गाड़ी को लूटा। उसे भी एंबुलेंस बनाकर शराब तस्करी कर रहे थे। वहीं पुलिस इन बदमाशों के अन्य अपराधिक रिकार्ड भी खंगालने में जुटी हुई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close