Morena Higher Education News: मुरैना, नईदुनिया प्रतिनिधि। साहब,सुमावली के प्राइवेट कॉलेज में मैं तीन साल से पढ़ रहा हूं। इस कॉलेज ने मुझसे हजारों रुपये की फीस ले ली और अब फर्जी अंकसूची पकड़ा दी है। मैंने इसकी शिकायत सुमावली थाने और विश्वविधालय में कर दी, इसके बाद कॉलेज के कॉलेज संचालक व शिक्षक हाथ-पांव तोड़ने की धमकी दे रहे हैं। गुरुवार को एडिशनल एसपी डॉ. रायसिंह नरवरिया के पास यह शिकायत कैमरा गांव का रहने वाला छात्र जितेन्द्र कुमार पुत्र कदम सिंह लेकर पहुंचा। एसपी ने पूरे मामले की जांच कराने का भरोसा दिया है।

छात्र जितेन्द्र कुमार ने बताया कि उसने साल 2018 में सुमावली के प्राइवेट कॉलेज शिवशंकर महाविद्यालय में एडमिशन लिया। कोरोना महामारी के कारण साल 2020 और फिर 2021 में जनरल प्रमोशन देकर उसे पास होना बता दिया। बकौल छात्र जितेन्द्र कुमार उसने 36 हजार रुपये की फीस कॉलेज को चुका दी है। इसके बाद कॉलेज ने बीएससी प्रथम वर्ष की जो अंकसूची दी है वह फर्जी है, उस अंकसूची में न तो नामांकन नंबर है, नहीं कोई सील व हस्ताक्षर हैं। छात्र के अनुसार वह ग्वालियर जीवाजी यूनिवर्सिटी में अपनी अंकसूची की जांच कराने पहुंचा तो वहां इस अंकसूची का कोई रिकार्ड नहीं मिला। यूनिवर्सिटी के अधिकारियों ने भी इस अंकसूची को फर्जी बताया। छात्र के अनुसार उसने इस ठगी की शिकायत सुमावली थाने में जाकर की, लेकिन तात्कालीन थाना प्रभारी पुष्पक शर्मा ने उसके द्वारा दिए गए प्रमाणों को भी नष्ट कर दिया। इसके बाद वह कॉलेज गया तो कॉलेज संचालक लाखन सिंह जादौन व दीपेन्द्र सिंह जादौन ने उसे हाथ-पांव तोड़ने की धमकी देकर कॉलेज से बाहर निकलवा दिया। छात्र ने कॉलेज से अपनी असली अंकसूची दिलाने की मांग करते हुए कहा, कि बिना अंकसूची वह आगे की कक्षा में प्रवेश नहीं करवा पा रहा। सुमावली के शिवशंकर कॉलेज ने उस सहित 25 से ज्यादा छात्रों को नकली अंकसूची देकर उनकी दो साल बर्बाद कर दी हैं।

वर्जन-

एक छात्र इस तरह की शिकायत लेकर आया है, मामला बहुत गंभीर है। अगर कॉलेज ने ऐसा किया है तो छात्रों के दो वर्ष बर्बाद कर दिए हैं, यह फर्जीवाड़े का मामला है। इसकी पूरी जांच कराई जाएगी। जांच के बाद आगे की कार्रवाई करेंगे।

डॉ. रायसिंह नरवरिया, एएसपी, मुरैना

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local