Morena Innocent to savagery: हरिओम गौड़, मुरैना नईदुनिया। अंबाह कस्बे में 5 साल की मासूम की दुष्कर्म के बाद हत्या के बाद से क्षेत्र में काफी आक्राेश है। लाेगाें ने मंगलवार काे मासूम की हत्या के विराेध में कैंडल मार्च निकालने के साथ ही माैन रखकर श्रद्धांजलि दी थी। ये मामला ठंडा हाेता इससे पहले ही मुरैना जिले में 6 साल की मासूम के साथ दरिंदगी का दूसरा मामला सामने आ गया। जौरा कस्बे के एक किराना दुकानदार ने 6 साल की बच्ची को बिस्किट खिलाने के बहाने अपनी हवस का शिकार बनाया। घटना मंगलवार शाम की है, मासूम की मां बुधवार को शिकायत लेकर पहुंची तब जौरा थाने में आरोपित पर मामला दर्ज हुआ है।

जौरा कस्बे की सिंगलपुरा बस्ती में रहने वाले मजदूर परिवार की 6 साल की बेटी मंगलवार की शाम 4 बजे घर के बाहर खेल रही थी। घर के पास में ही जसवंत की किराना दुकान है, जिस पर मंगलवार की शाम जसवंत का 19 साल का बेटा अमित बैठा हुआ था। घर के बाहर खेल रही 6 साल की मासूम को अमित ने बिस्किट खिलाने के बहाने दुकान पर बुलाया। बताया गया है कि दुकान के पिछले हिस्से में ही अमित का घर है। वह बालिका को बिस्किट देकर घर के अंदर ले गया और दुष्कर्म किया। आरोपित ने हैवानियत करते हुए एक लकड़ी का टुकड़ा 6 साल की मासूम के नाजुक अंगाें में डाल दिया, जिससे वह लहूलुहान हो गई। बालिका का इलाज चल रहा है। उधर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म, पाक्सो एक्ट के अलावा अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

मां ने चीख सुनी तो पहुंची घर के अंदरः 6 साल की मासूम बच्ची खेलते-खेलते अचानक गायब हो गई तो उसकी 26 साल की मां उसकी तलाश मोहल्ले में करने लगी। जैसे ही वह अमित की किराने की दुकान के पास आई तो उसे बच्ची के चीखनें की आवाज सुनाई दी। किराना दुकान पर कोई नहीं था, इसलिए वह सीधे घर में चली गई। जहां अमित बालिका से दुष्कर्म कर रहा था। बालिका की मां को देख अमित वहां से भाग गया। पुलिस उसकी खोज में जुटी है।

गमनीन शहर ने मंगलवार को दी थी श्रद्धांजलि,फिर हो गई घटनाः दो दिन पहले ही 5 वर्षीय बालिका के साथ ज्यादती के बाद उसकी हत्या की घटना को लेकर शहर के लोगों में गुस्सा है। मासूम से दरिंदगी के विरोध में मंगलवार की शाम शहर के युवाओं ने कैंडल मार्च निकालकर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया। इस दौरान कस्बे के पीपल चौराहे पर पं. राम प्रसाद बिस्मिल स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित कर मासूम के गुनहगार को कड़ी से कड़ी सजा देने और बच्चियों व महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम करने की मांग की गई। युवाओं ने शहर में एक कैंडल मार्च भी निकाला। कार्यकर्ताओं ने कैंडल जलाकर और दो मिनट का मौन रखकर बालिका को श्रद्धांजलि दी थी। इसके बाद अब फिर मासूम से हैवानियत का मामला सामने आने से लाेगाें का आक्राेश काफी बढ़ गया है।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags