- कलेक्टर ने एक दर्जन बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का किया दौरा

फोटो 13ए। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लोगों से चर्चा करती कलेक्टर व विधायक।

13 बी। खराब हुई फसलों का निरीक्षण करती कलेक्टर व विधायक।

मुरैना। दिमनी क्षेत्र के विधायक गिर्राज डंडोतिया व कलेक्टर प्रियंकादास ने मंगलवार को दिमनी, अंबाह व पोरसा क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण किया। भ्रमण के दौरान फसलों में हुए नुकसान को देखा और ग्रामीणों के बीच में बैठकर उनकी समस्याओं को सुना। इस दौरान विधायक ने कहा कि शासन व प्रशासन दोनों ही पीड़ित किसानों के साथ हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों कोटा बैराज से चंबल में छोड़े गए पानी से दिमनी, अंबाह व पोरसा क्षेत्र के कई गांव डूब क्षेत्र में आ गए थे। इन गांवों के खेतों में पानी भर गया था, जिससे फसलों को नुकसान हुआ है।

कलेक्टर ने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में फसलें, पशुहानि, आवास, गृहस्थी का सामान की क्षति हुई है। उनका सर्वे करने के लिए राजस्व विभाग की टीमों को तैनात किया गया है। यह टीमें खेत-खेत पर पहुंचकर नुकसान का जायजा लेगीं और मौके पर नुकसानी को पत्रक में लिखेंगी। किसान को वास्तविक लाभ मिलेगा। यह बात कलेक्टर क्षेत्र के किसरौली, खिरेंटा, डण्डौली, लडुआपुरा, पीपरीपुरा, कुथियाना, वीरपुर, घेर, चुसलई, इन्द्रजीत का पुरा, शिवदयाल का पुरा और रामगढ़ में खेत-खेत पर पहुंचकर जायजा लेते समय कही। कलेक्टर ने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में जिनके खेतों में खड़ी फसल नष्ट हुई हैं उन किसानों को 50 किलो गेहूं और 5 लीटर मिट्टी का तेल दिया जाएगा। ग्राम चुसलई में कलेक्टर ने ग्रामीणों के बीच बैठकर लोगों की समस्या सुनी। उस समय मोहन सिंह ने बताया कि मेरी बकरी व भैसें पानी के तेज बहाव में चंबल नदी में बहकर चली गई। इस पर कलेक्टर ने कहा कि नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा।

पोरसा तहसील का किया औचक निरीक्षण

कलेक्टर ने पोरसा तहसील का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कई दायरा पंजी ऐसी पाई गईं, जिन्हें ऑनलाइन कम्प्यूटर में फीड नहीं किया गया था। उन आवेदनों को कलेक्टर ने देखा और तहसीलदार भूमिजा सक्सेना के खिलाफ असंतोष व्यक्त किया। कलेक्टर ने तहसीलदार भूमिजा सक्सेना को स्पष्ट शब्दों में कहा कि सबसे खराब हालत पोरसा तहसील में मिली है। इसे 30 दिवस के अंदर सुधारना होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket