फोटो, 40ए-उद्घाटन के बाद पांटून पुल से चंबल पार करते विधायक व अन्य

-रविवार को विधिवत तरीके से शुरू हो गया पांटून पुल

सबलगढ़। अटार घाट पर पांटून पुल का रविवार को विधिवत तरीके से शुरूआत हो गई। स्थानीय विधायक बैजनाथ कुशवाह ने घाट पर पहुंचकर पुल का उद्घाटन किया। इसके बाद अटार घाट पर बनाए जा रहे पक्के पुल के निर्माण का जायजा लेने के लिए नदी पार कर राजस्थान के मंडरायल सीमा में पहुंचे। जहां उन्होंने ठेकेदारों से पुल की स्थिति के बारे में पूछा।

उल्लेखनीय है कि पांटून पुल का निर्माण हर साल 15 अक्टूबर तक कर लिया जाता है, लेकिन इस बार पुल के निर्माण के बाद शुरू होने में लगभग 25 दिन की देरी हुई। दरअसल जिस ठेकेदार को पुल के निर्माण का ठेका दिया था उसने निर्माण करने से इंकार कर दिया। इसके बाद जनपद ने पुराने ही ठेकेदार का ठेका आगे बढ़ाते हुए इसका निर्माण कराया गया। रविवार को पांटून पुल निर्माण होने के बाद विधायक बैजनाथ कुशवाह ने फीता काटकर विधिवत तरीके से इसका शुभारंभ किया। जिससे वाहनों का आवागमन शुरू हो गया। लोगों को अब करौली की सीमा में जाने के लिए 250 किमी का फेरा नहीं लगाना पड़ेगा। लोग सीधे ही अटार घाट के रास्ते करौली पहुंच सकेंगे। पुल के शुरू होने से आमजन को सहूलियत मिलेगी।

चंबल पार कर देखा पुल निर्माणः

विधायक ने पांटून पुल का उद्घाटन करने के बाद चंबल नदी पर बनाए जा रहे पक्के पुल निर्माण का जायजा लिया। इस पुल का निर्माण राजस्थान सरकार द्वारा कराया जा रहा है। जिसकी शुरूआत मंडरायल क्षेत्र से की गई है। इसलिए विधायक ने पांटूल पुल से चंबल पार कर मंडरायल क्षेत्र में हो रहे इसके निर्माण की स्थिति देखी। वहीं पुल के ठेकेदार चेतन पटेल से पूरी स्थिति जानी। जहां ठेकेदार ने पुल का निर्माण डेढ़ साल में पूरा करने का आश्वासन दिया।

Posted By: Nai Dunia News Network