फोटो 7ए। योजना समिति की बैठक में भाग लेते प्रभारीमंत्री, कलेक्टर व अन्य सदस्य।

- औपचारिकता में सिमिट कर रह गई जिला योजना की समिति। केन्द्रीय मंत्री के कार्यक्रम की वजह से कम समय दे पाई कलेक्टर।

मुरैना। योजना समिति की बैठक में शनिवार को जिले के प्रभारीमंत्री लाखन ंिसंह यादव ने सीवर लाइन के निर्माण की जांच के लिए समिति गठित कर करवाने के निर्देश दिए हैं। यह निर्देश उन्होंने बैठक में सदस्यों द्वारा सीवर लाइन के निर्माण कार्य में की जा रही अनियमितताओं की शिकायत के बाद दिए। बैठक में अधिकतर मामले नगरनिगम को लेकर ही उठाए गए। एक मामला बहरारा नलजल योजना श्ुरू करने को लेकर रहा।

बैठक में मेयर अशोक अर्गल ने वीआईपी रोड को बनाने का मुद्दा उठाया। लेकिन इसके जवाब में अन्य सदस्यों ने कहा कि शहर में वीआईपी रोड हो या फिर नाले व सीवर का काम। सभी काम धीमी गति से चल रहे हैं। लेकिन मेयर उन पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। वीआईपी रोड का मेयर को इसलिए ध्यान है क्योंकि इस रोड पर उनकी जमीन है। ये बात सही है कि वीआईपी रोड के निर्माण से शहर में ट्रैफिक सुचारू हो जाएगा। लेकिन अन्य काम जो धीमी गति से चल रहे हैं। उन्हें भी तो तेज गति से चलना चाहिए। इस पर प्रभारीमंत्री ने सभी कामों में गति लाने के निर्देश आयुक्त को दिए।

बहरारे की नलजल योजना की गलत जानकारी पर भड़के सदस्यः योजना समिति की बैठक में पीएचई ने बहरारे सहित अन्य जगहों की नलजल योजनाओं के पूरा होने की जानकारी दी। इस पर बैठक में सदस्य भड़क गए। सदस्यों का कहना है कि पिछले 12 साल से काम चल रहा है। लेकिन अभी तक पूरा नहीं हो पाया है। अभी तक जिले में नई नलजल योजनाएं शुरू नहीं हुई है। लेकिन विभाग सभी का काम पूरा बताता है। इस पर प्रभारीमंत्री ने पीएचई के अफसरों की क्लास भी ली और गलत जानकारी देने के ऊपर लताड़ा भी।

सड़कों के किनारे सीसी बनने का मुद्दा उठाः बैठक में सबसे अधिक शिकायत शहर में उड़ रही धूल की आई। सदस्यों ने प्रभारीमंत्री से कहा कि सड़कों के किनारे कच्च्ी जगह है। उस पर पेवर ब्लाक या सीसी बनवा दी जाए तो धूल की समस्या हल हो सकती है।

औपचारिक बन गई बैठकः जिस समय बैठक हो रही थी उसी समय जीवाजीगंज में केन्द्रीय मंत्री का कार्यक्रम था। इसलिए कलेक्टर, एडीएम व एसडीएम सहित प्रशासन के अफसर उठकर इस कार्यक्रम में चले गए। जिससे जिला योजना समिति की बैठक महज औपचारिकता में ही निपट गई। बैठक में सदस्यों ने प्रभारी मंत्री से मांग की कि बिजली विभाग में अभी तक एसटीसी (निर्माण संभाग) मुरैना संभागीय मुख्यालय पर संचालित हुआ करता था, किन्तु शासन के निर्देशानुसार अब यह निर्माण संभाग बिजली मण्डल जिले में पहुंचा दिया गया है। इस पर प्रभारी मंत्री लाखन सिंह यादव ने घोर आपत्ति लेते हुए निर्माण संभाग बिजली विभाग का ऑफिस मुरैना में लगने का प्रस्ताव जिला योजना समिति में पास किया।

पशु रोग अनुसंधान प्रयोगशाला का किया शिलान्यासः प्रभारीमंत्री लाखन सिंह यादव ने स्थानीय पशु अस्पताल में 20 लाख की लागत से बनने वाली पशु रोग अनुसंधान प्रयोगशाला का शिलान्यास किया। शिलान्यास के अवसर पर श्री यादव ने कहा कि इसके बनने से पशुओं के उपचार में अधिक सुविधा मिलेगी। साथ ही गोपाल पुरस्कार के विजेताओं को भी पुरस्कार दिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket