फोटो 1ए। कंटेनमेंट क्षेत्र में भ्रमण करती कलेक्टर।

1 बी। ड्रोन कैमरे से रखी जा रही नजर।

1 सी। बिना मास्क वालों के खिलाफ कार्रवाई करती पुलिस।

- कंटेनमेंट एरिया में ढील व लोगों के आने-जाने को लेकर नाराज हुईं कलेक्टर और पहुंची कंटेनमेंट क्षेत्र का निरीक्षण करने

मुरैना। कंटेनमेंट एरिया से लोगों के बाहर जाने व अंदर जाने की खबरें लगातार आ रही हैं। यहां से किसी को बाहर न जाने दिया जाए और न ही आने दिया जाए। साथ ही कंटेनमेंट क्षेत्र की निगरानी ड्रोन कैमरे से की जाए। जो भी नियम तोड़ता दिखे, उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाए। साथ ही उन लोगों पर भी नजर रखी जाए जो कंटेनमेंट क्षेत्र में रहते हैं, लेकिन उनकी दुकानें दूसरे क्षेत्रों में हैं। वे बाहर आकर अपनी दुकानों को खोल रहे हैं। यह निर्देश कलेक्टर प्रियंकादास ने वार्ड 32-33, 23 व 28 नंबर वार्ड में बने कंटेनमेंट एरिया का निरीक्षण करते हुए ननि सहित राजस्व व पुलिस अमले के अफसरों से कही।

उल्लेखनीय है कि पिछले कई दिन से शिकायतें आ रही थी कि कंटेनमेंट क्षेत्र में रहने वाले लोग न केवल घरों से निकल रहे हैं, बल्कि शहर के दूसरे क्षेत्रों में जा रहे हैं। जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। कंटेनमेंट क्षेत्र के प्रवेश द्वारों पर बेशक बेरिकेड्स की गई है, लेकिन लोग बेरिकेड्स खोल कर आ-जा रहे हैं। साथ ही 23 नंबर वार्ड में रहने वाले लोग कलेक्टोरेट के आसपास की दुकानों को खोल रहे हैं। इन शिकायतों के आने के बाद शनिवार को कलेक्टर शहर के सभी कंटेनमेंट क्षेत्रों में निरीक्षण के लिए पहुंची। इस दौरान इन क्षेत्रों में तैनात पुलिस कर्मियों को भी सख्ती से नियमों का पालन कराने के निर्देश दिए। साथ ही सभी प्रवेश द्वारों को सही ढंग से बंद करने के लिए भी कहा।

ड्रोन कैमरे से होगी निगरानी

वार्ड 32-33, 23 के कंटेनमेंट क्षेत्र से लोगों के आने-जाने की अधिक शिकायतें मिल रही थीं। इस वजह से कलेक्टर ने नगरनिगम के पीआरओ रहीम चौहान को निर्देश दिए कि इन कंटेनमेंट क्षेत्रों में दिन में तीन बार ड्रोन कैमरे से निगरानी करें। कैमरे में जो भी लोग नियम तोड़ते हुए नजर आएं, उनके खिलाफ कार्रवाई करें और एफआईआर दर्ज कराएं।

कंटेनमेंट क्षेत्र में खुल रहा था बाजार

कलेक्टर जब निरीक्षण के लिए वार्ड 32-33 में ओवरब्रिज के पास पहुंची तो ओवरब्रिज मार्केट की दुकानें खुली हुई थीं। जबकि यह पूरा इलाका कंटेनमेंट क्षेत्र में आता है। इसके अलावा बस्ती में भी दुकानें खुली हुई थी और उन पर लोगों की भीड़ थी। ये सब देखकर कलेक्टर काफी नाराज हुईं। उन्होंने साथ में चल रहे पुलिस व प्रशासन के अफसरों को सख्त लहजे में कंटेनमेंट क्षेत्र के नियमों का पालन करने के लिए कहा।

तेलीपाड़े में हुआ विवाद

तेलीपाड़ा कंटेनमेंट क्षेत्र में जब कलेक्टर पहुंची तो वहां पर सिंधिया समर्थक महेंद्र जैन से कलेक्टर का हल्की कहासुनी भी हुई। हालांकि महेंद्र जैन का कहना था कि उन्होंने कलेक्टर से शिकायत दर्ज कराई थी कि दो दिन से कोई सब्जी व दूध वाले नहीं आए हैं। इसकी व्यवस्था कराई जाए। इस पर उन्होंने जिम्मेदार अफसर को व्यवस्था कराने के निर्देश दिए।

इधर पुलिस ने बिना मास्क वालों के खिलाफ किए प्रकरण दर्ज

कलेक्टर के अलावा एसपी भी शनिवार को मय बल के बाजार क्षेत्र की सड़कों पर उतरे। इस दौरान बाजार क्षेत्र में बिना मास्क लगाकर घूमने वाले व काम कर रहे लोगों को पकड़ा और उनके खिलाफ धारा 188 के तहत प्रकरण दर्ज कराए। इस अभियान में शहर के तीनों थानों सिविल लाइन, कोतवाली व स्टेशन रोड क्षेत्र में करीब 40 ऐसे लोगों के खिलाफ प्रकरण बनाए गए, जो मास्क नहीं लगाए थे। अचानक पुलिस के बाजार क्षेत्र में सक्रिय होने से लोगों ने तुरंत अपने मुंह पर मास्क तो लगाए ही। साथ ही बाजार में भीड़ भी कम हो गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस