- जनसुनवाई में शिकायत लेकर पहुंचे ग्रामीण।

मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। साहब हमारी ग्राम पंचायत में मनरेगा मजदूरों को काम नहीं मिल रहा। बिना काम लिए मनरेगा मजदूरों के खाते में पैसे आते हैं। गांव के सरपंच, सचिव और रोजगार सहायक मजदूरों के खातों से यह रुपये निकलवाकर जेसीबी-ट्रैक्टर मालिकों को दे देते हैं। इस फर्जीवाड़े के कारण मनरेगा मजदूरों को सिर्फ कागजों में मजदूरी मिल रही है, इसे रुकवा दीजिए। मंगलवार को जनसुनवाई में कलेक्टर बी कार्तिकेयन के सामने पोरसा जनपद की सिलावली पंचायत के संजय सिंह, राकेश, धनक सिंह, रामनरेश आदि लेकर पहुंचे।

दो महीने से नहीं मिला राशनः

पचोखरा गांव के 14 ग्रामीण जनसुनवाई में अलग-अलग आवेदन लेकर पहुंचे और बताया कि उन्हें पीडीएस दुकान से बीते दो महीने से राशन नहीं मिला है। ग्रामीण रामसिंह, बनवारी लाल, रमेश कुमार, श्रीधर कुशवाह आदि ने बताया कि पीडीएस दुकान के संचालक गजराज सिंह तोमर व राजपाल सिंह सिकरवार द्वारा दिसंबर व फरवरी महीने का राशन पात्र परिवारों को नहीं दिया गया है। यह राशन कालाबाजारी करके महंगे दामों पर व्यापारियों को बेच दिया गया है।

क्रेशर के शोर-प्रदूषण से मुक्ति दिलाने की गुहारः

धनेगा गांव के रामलखन पुत्र रामभरोसी गुर्जर ने उसकी जमीन व घर के पास में आरएल नर्सिंग कॉलेज बना हुआ है। इसी के पास में गिट्टी बनाने वाला एक क्रेशर चालू हो गया है। इस क्रेशर के प्रदूषण और शोर के कारण उनका रहना दूभर हो गया है। इतनी धूल उड़ती है कि घर के दरवाजे-खिड़की बंद रखने पड़ते हैं। घर के बाहर कपड़े सुखाना दूभर हो गया है। रामलखन के अनुसार क्रेशर संचालक ने बड़ी बोर कर ली है, जिससे आसपास के बोरों का पानी सूख गया और फसलों की सिंचाई नहीं हो पा रही। रामलखन ने बताया कि छठवीं बार जनसुनवाई में आया हूं, लेकिन उसकी शिकायत का निराकरण नहीं हो रहा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags