मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना की दूसरी लहर जब कहर ढा रही थी और अस्पतालों में ऑक्सीजन से लेकर दवाओं तक का अकाल था, तब जनप्रतिनिधि भी क्वारंटाइन हो गए थे। अब कोरोना संक्रमण कम होते ही जनप्रतिनिधियों में कोरोना से मारे गए उनके समर्थकों के घर जाकर शोक जताने की होड़ सी लगी है। केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह के बाद शुक्रवार को राज्यसभा सदस्य सिंधिया जब मुरैना आए तो अपने हर उस समर्थक के घर दुःख जताने पहुंचे, जिनके परिवार में कोरोना ने किसी न किसी की जान ली है।

राज्यसभा सांसद सबसे पहले पूर्व मंत्री ऐदल सिंह कंषाना के परिवार में हुई भतीजी बहू की मौत पर शोक व्यक्त करने गए। उसके बाद एडवोकेट रवि प्रताप भदौरिया व उनकी पत्नी के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करने उनके घर गए। यहां के बाद भाजपा नेता हरिओम शर्मा के घर उनके बड़े भाई श्रीगोपाल शर्मा, केएस ऑयल के संचालक रमेशचंद्र गर्ग की पत्नी के निधन पर श्रद्धांजलि देने उनके घर पहुंचे। एसकेटी ग्रुप के रमेश तोमर, पूर्व विधायक सोबरन सिंह मावई के बड़े पुत्र सतेन्द्र सिंह, व्यवसायिक बैंक के पूर्व अध्यक्ष केशव अग्रवाल के निधन पर परिवार को ढांढस बंधाने पहुंचे। इनके अलावा भाजपा नेता रामसिंह यादव व अन्य समर्थकों के यहां गए। इस दौरान विधायक कमलेश जाटव, पूर्व मंत्रीी गिर्राज डण्डोतिया, पूर्व सांसद अशोक अर्गल, पूर्व विधायक रघुराज सिंह कंषाना, बृजराज सिंह चौहान आदि मौजूद थे।

काफिले के कारण जाम हो गईं शहर की सड़कें:

सिंधिया के काफिले में एक सैकड़ा से ज्यादा गाड़ियां थीं। इनमें 20 से ज्यादा गाड़ियां तो अधिकारी-कर्मचारियों की थीं। इस कारण सिंधिया जहां भी रुकें, वहां की सड़क पर कम से कम 15 से 20 मिनट तक जाम लग जाता। जिन भाजपा नेता व समाजसेवियों के घर सिंधिया शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे थे, उनमें से अधिकांश के घर मुख्य सड़कों पर थे। इस कारण एमएस रोड, जौरा रोड की तो एक साइड को ही ट्रैफिक के लिए बंद कर दिया। जहां सिंधिया की गाड़ी रुकती, वहां दूर तक गाड़ियों की कतार लग जाती।

मुरैना रेलवे स्टेशन को जंक्शन बनाने सिंधिया को सौंपा ज्ञापनः

मुरैना जंक्शन बनाओ संघर्ष समिति के सदस्यों ने सिंधिया के काफिले को बैरियर चौराहे पर ही रोक लिया। इस दौरान ज्ञापन सौंपकर मुरैना रेलवे स्टेशन को जंक्शन बनाने की मांग लेकर ज्ञापन सौंपा। संघर्ष समिति के अध्यक्ष रामअवतार शर्मा के साथ मनोज मिश्रा, रामेश्वर गुर्जर, सरनाम सिंह गुर्जर, प्रेम किशोर शर्मा, बृज किशोर, रामेश्वर सिंह, केशव सिंह तोमर आदि ने राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया को ज्ञापन देते हुए कहा कि मुरैना को जंक्शन बनाया जाए, जिससे श्योपुर जिला भी सीधा दिल्ली से जुड़ जाएगा। ग्वालियर की ट्रेनें भी सीधे राजस्थान के कोटा से जुड़ जाएंगी। किसानों की सरसों, गेहूं आदि फसलों की ढुलाई में राहत हो जाएगी। सिंधिया ने इस मांग पर जल्द अमल करने का आश्वासन दिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags