मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। मुरैना जिले में फर्नीचर उद्योग को बढ़ावा देने के लिए क्षेत्रीय सांसद व केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने फर्नीचर क्लस्टर बनाने की योजना तैयार की है। इस योजना को बुधवार को दिल्ली में अंतिम रूप दिया गया। मप्र के सूक्ष्‌म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा से लेकर फर्नीचर उद्योग से जुड़े निवेशक मौजूद थे। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश शासन के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग ने इसी महीने के प्रारंभ में नए नियम जारी किए हैं, जिसके अंतर्गत क्लस्टर्स के लिए राज्य शासन द्वारा रियायती दर पर जमीन आवंटित की जाएगी। इसी के तहत क्षेत्रीय सांसद नरेन्द्र सिंह तोमर ने मुरैना में र्फीचर उद्योग विकसित करने की संभावनाएं तलाशते हुए फर्नीचर क्लस्टर बनाने की योजना बनाई है। इसके तहत क्षेत्र में आसानी से उपलब्ध होने वाली लकड़ियों का उपयोग कर मुरैना जिले में ही अच्छी गुणवत्ता के फर्नीचर बनाए जाएंगे। इस काम में कई नामी कंपनियां भी निवेश करेंगी, इस कारण हजारों लोगों को रोजगार के नए रास्ते खुलेंगे। इस बैठक में मंत्री सखलेचा ने कहा कि राज्य शासन की ओर से इस पहल पर पूरा सहयोग किया जाएगा। बैठक में म.प्र. लघु उद्योग निगम के महाप्रबंधक बीएन तिवारी, मुरैना के संयुक्त कलेक्टर संजीव जैन, वर्ल्ड सिख चेम्बर आफ कामर्स के अध्यक्ष डा. परमीत सिंह चड्ढा, सिख समुदाय के र्फीचर क्रेता, साथ ही टिम्बर मर्चेंट्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष घनश्याम कुशवाह तथा सदस्य और कीर्ति नगर के फर्नीचर व्यापारी मौजूद थे।

मुरैना की इमारती लकड़ी जा रही यूपी, राजस्थानः

केंद्रीय मंत्री तोमर के सामने हुए प्रेजेंटेशन में बताया कि मुरैना जिले में उत्पादित इमारती लकड़ियां फर्नीचर के लिए राजस्थान, उत्तर प्रदेश जा रही हैं। मुरैना जिले में 50,669 हेक्टेयर आरक्षित वनक्षेत्र हैं। संरक्षित वन 26,847 हेक्टेयर हैं, जो ज्यादातर सबलगढ़ व जौरा ब्लाक में है। जिले में मुख्यतः सागौन, शीशम, नीम, पीपल, बांस, साल, बबूल, हर्रा, पलाश, तेंदू के वृक्ष के वन है। इनमें से मुख्यतः शीशम, सागौन, साल की लकड़ियां भी फर्नीचर में उपयोग होती है, वहीं फर्नीचर में इस्तेमाल होने वाली लकड़ियों में देवदार व कठल भी हैं, जो मध्यप्रदेश में बहुतायत में पाई जाती है और र्फीचर उद्योग के विकास में बहुत उपयोगी है।

वर्जन

मुरैना की लकड़ियों से जिले में ही फर्नीतप बनाया जाएगा तो यहां उद्योग विकसित होने के साथ बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा, साथ ही जिले की अर्थव्यवस्था भी बेहतर हो सकेगी। मुरैना में फर्नीतप बनने से मध्यप्रदेश सहित आसपास के जिलों में इसका विक्रय हो सकेगा, जिससे सभी स्थानों के लोगों को काफी सहूलियत व फायदा होगा।

नरेन्द्र सिंह तोमर,केंद्रीय कृषि मंत्री

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags