सात गांव खाली कराए, 1125 लोगों को पहुंचाया सुरक्षित स्थानों पर

मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। चंबल व क्वारी नदी की बाढ़ में 25 से ज्यादा गांव के रास्ते बंद हो गए हैं। कहीं सड़क पानी में डूबी है तो कहीं पुल-पुलिया के ऊपर नदी बह रही है। इसके अलावा 7 गांव तो ऐसे हैं, जिनमें लगातार पानी बढ़ने व घर जलमग्न होते देख प्रशासन ने इन गांवों को खाली करा दिया। इन 7 गांवों से 1125 से ज्यादा लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। अंबाह के घेर गांव को पूरा खाली कराकर 165 से ज्यादा लोगों को कुथियाना बीलपुर गांव में शिफ्ट किया। नगरा के भक्कपुरा गांव के हर घर में पानी भर गया, इसीलिए गांव के 220 से ज्यादा लोगों को रेस्क्यू कर दूसरे गांवों के स्कूल व पंचायत भवनों में शिफ्ट किया। बागचीनी के चेंची का पुरा के 64 घरों की 300 से ज्यादा की आबादी को रसोधना गांव में भेजा गया। बागचीनी के ही नहारदोह से 12 घरों के 55 से ज्यादा और चिन्नाौनी की करोरी बस्ती के 15 घरों के 70 से ज्यादा लोगों से बस्ती खाली कराकर ऊंचे स्थानों पर बने स्कूल व पंचायत भवनों में बसाया। देवगढ़ थाना क्षेत्र के समाधी गांव को खाली कराकर 105 से ज्यादा और खिटरो-काबिल का पुरा गांव से 210 से ज्यादा लोगों को दूसरी जगह शिफ्ट करवाया गया है। इसके अलावा कैलारस के सुजानगढ़ी में बाढ़ में फंसे 6 ग्रामीण और हल्लापुरा गांव में टापू पर फंसे दो लोगों का रेस्क्यू भी किया गया है।

तोर तिलावली के पुल के पिलर चटके, सड़क दरकीः

क्वारी नदी की बाढ़ में नेपरी के पुल की एप्रोच रोड धंस गया। इसी नदी की बाढ़ ने एक मंगलवार की दोपहर एक और पुल को क्षतिग्रस्त कर दिया। यह पुल देवगढ़ थाना क्षेत्र की जद में आने वाले तोर-तिलावली रूट पर है। नदी की बाढ़ में पुल के दो पिलरों चटककर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। चटकने के बाद पिलर हिले तो पुल की सड़क में भी दरार आ गई। इस घटना के बाद पुल से वाहनों का आवागमन बंद करवा दिया है, केवल बाइक, साइकल सवार व पैदल राहगीर ही निकाले जा रहे हैं। इस पुल से आवागमन बंद होने से 30 से ज्यादा गांवों का जौरा क्षेत्र से सीधा सड़क संपर्क कट गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local