मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कागजों में संचालित फर्जी नर्सिंग कॉलेजों पर कार्रवाई की मांग लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के आधा सैकड़ा से ज्यादा कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए। एबीवीपी कार्यकर्ता शहर की मुख्य सड़क पर धरना देकर बैठ गए, उसके बाद चंद मिनट में ही पूरे शहर का यातायात चरमरा गया। जो अधिकारी ज्ञापन देने नहीं मिल रहे थे वह छात्रों को मनाने में जुट गए। एसडीएम ने जिलेभर के नर्सिंग कॉलेजों की जांच व कार्रवाई 15 दिन में करने का भरोसा दिया, तब छात्र सड़क से हटे।

एबीवीपी के जिला संयोजक अर्जुन घुरैया की अगुआई में गुरुवार दोपहर 12 बजे के करीब जिला अस्पताल के पास, जेल रोड चौराहा एमएस रोड पर 50 से ज्यादा छात्र-छात्रा धरना देकर बैठ गए। छात्रों का आरोप है कि जिलेभर में 12 से ज्यादा नर्सिंग कॉलेज कागजों में चल रहे हैं, इनका कोई अस्तित्व नहीं। जिला संयोजक अर्जुन घुरैया ने कहा कि डेढ़ महीने पहले सीएमएचओ को ज्ञापन दिया, उन्होंने जांच के लिए समिति बनाई जिसे बाद में बिना किसी कार्रवाई के भंग कर दिया और जांच नहीं कराई। छात्रों ने सीएमएचओ डॉ. एडी शर्मा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान विभाग संगठन मंत्री धर्मेंद्र दांगी नगर मंत्री सत्यादित्या सिंह तोमर, प्रांत कार्यकारणी सदस्य सतेंद्र सिकरवार, प्रांत कार्यकारणी सदस्य ज्योति गुर्जर, लक्ष्‌मी गुर्जर, नम्रता माहोर, कंचन शर्मा, पूनम शर्मा, निधि तोमर आदि एबीवीपी सदस्य मौजूद थे।

एमएस रोड से लेकर, हर सड़क पर जामः दोपहर 12 से 1 बजे तक यह धरना प्रदर्शन चला। इस दौरान एमएस रोड पर बैरियर से लेकर महावीर नाका तक जाम दिखा। उधर जेल रोड, गंज रोड, कोतवाली रोड, मिल एरिया रोड पर भी वाहनों की भीड़ मुड़ गई, जिससे जाम लग गया। हालात बिगड़ने के बाद एसडीएम संजीव जैन व डीएसपी आरएस रघुवंशी आए। पहले तो छात्रों ने एसडीएम जैन को यह कहते हुए ज्ञापन देने से इंकार कर दिया कि आप ननि के आयुक्त है, आप कुछ नहीं कर सकते हमारे मामले में। इसके बाद बताया गया कि वह शहर के एसडीएम भी हैं, तब छात्रों ने उन्हें ज्ञापन दिया। श्री जैन ने 15 दिन में नर्सिंग कॉलेजों की जांच का भरोसा दिया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local