मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। मुरैना जिले की सबसे बड़ी सरकारी गोशाला 'देवरी गोशाला' में रह रही मवेशियों के लिए भूसा उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। हालत यह है कि बीते 15 दिन से गोशाला में बंद मवेशी को भरपेट चारा नहीं मिल पा रहा। गुरुवार को गोशाला के चारा गोदाम पूरी तरह खाली हो गया। बताया गया है, कि भूसा सप्लाई करने वाले ठेकेरार का नगर निगम ने भुगतान रोक रखा है, इसी कारण गोशाला को पर्याप्त मात्रा में भूसा नहीं मिल पा रहा है।

गौरतलब है कि देवरी गोशाला के संचालन का जिम्मा मुरैना नगर निगम का है। नगर निगम के रिकार्ड अनुसार इस गोशाला में दो हजार से ज्यादा मवेशी पहले से रह रहे हैं। इसके अलावा बीते एक सप्ताह से सड़कों पर घूम रही सैकड़ों निराश्रित मवेशी को पकड़कर गोशाला छोड़ा जा चुका है, लेकिन इन मवेशी के लिए चारा उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। देवरी गोशाला प्रबंधन के अनुसार इन मवेशियों के लिए हर रोज 40 से 42 क्विंटल भूसे की जरूरत है, लेकिन शुक्रवार को गोशाला में 50 किलो भी भूसा नहीं बचा है। गोशाल प्रबंधन ने नैनागढ़ रोड स्थित उस भूसा दुकान से भी संपर्क किया, जो गोशाला में भूसा की सप्लाई करता है। उक्त सप्लायर ने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि, नगर निगम ने उनका लाखों रुपये का भुगतान रोक रखा है, इसीलिए उसने भूसा की सप्लाई भी रोक दी है। गुरुवार को गोशाला के सदस्य व विश्व हिदूं परिषद के पदाधिकारी इस समस्या को लेकर कलेक्टर बी कार्तिकेयन और नगर निगम कमिश्नर संजीव जैन से मिले। अफसरों ने भूसे के संकट को जल्द खत्म करने का वादा किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local