मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। पंचायत चुनाव के दूसरे चरण के वोटों की गिनती हो चुकी है। मतगणना के बाद फर्जी वोटिंग का आरोप लगाकर जौरा जनपद की निधान ग्राम पंचायत के सरपंच प्रत्याशी के एक सैकड़ा से ज्यादा समर्थकों ने मंगलवार को कलेक्टोरेट में धरना प्रदर्शन और नारेबाजी की। प्रदर्शन कर रही भीड़ पुनर्मतदान की मांग कर रही थी, इस पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने दो टूक कह दिया कि अब कुछ नहीं होने वाला। आपको पहले ही रिटर्निंग आफिसर (आरओ) से शिकायत करनी थी।

मंगलवार की दोपहर 12 बजे के करीब निधान ग्राम पंचायत के 100 से ज्यादा ग्रामीण कलेक्टोरेट में धरना देकर बैठ गए। इस दौरान जिला प्रशासन व निर्वाचन विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की मतदान व मगतणना में गड़बड़ी के आरोप लगाए। प्रदर्शन करने वालों में शामिल भरत त्यागी ने बताया कि पोलिंग बूथ पर मतदान के बाद मतपेटी को पीठासीन अधिकारी व अन्य कर्मचारियों ने सील ही नहीं किया। इस पेटी में मतदान केंद्र पर 538 वोट डले थे, लेकिन जब मतगणना हुई तो उसमें 558 वोट निकले। यानी फर्जी मतदान किया गया है, जिसमें ग्राम पंचायत के सचिव से लेकर मतदानकर्मी भी शामिल हैं। सरपंच प्रत्याशी जादौराम सविता के समर्थन में आए ग्रामीणों ने बताया कि पहले तो जादौराम को जीता हुआ बता दिया, बाद में कहा कि 26 वोटों की गिनती और रह गई है, इन 26 वोट की गिनती के बाद सपना जितेंद्र कुशवाह को 22 वोट से जीता हुआ बता दिया। ग्रामीणों की यह शिकायत सुनने के बाद उप जिला निर्वाचन अधिकारी एलके पाण्डेय ने कहा कि, फर्जी मतदान का संदेह था तो पहले ही शिकायत आरओ करनी थी। अगर मतगणना में गड़बड़ी की आशंका है तो रात में ही आवेदन देकर फिर से वोटों की गिनती करवा सकते थे, लेकिन अब कलेक्टोरेट में धरना देने से कुछ नहीं होगा। पहले तो उप जिला निर्वाचन अधिकारी शिकायत का आवेदन लेने तैयार नहीं हुए, लेकिन जब ग्रामीणों ने कहा कि हमारा ज्ञापन तो ले लीजिए। इसके बाद उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने दो पन्नाों का आवेदन लिया।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close