मुरैना। मुरैना के सरायछोला थानान्तर्गत जारह गांव में शनिवार रात बदमाशों ने रंगदारी दिखाने के लिए फायरिंग कर दी। भयभीत ग्रामीण रात में डर के कारण घरों में ही छिपे रहे। रविवार सुबह ग्रामीम बाजार बंद कर बदमाशों के खिलाफ एक जुट हो गए। उनका आरोप था कि समाज विशेष के कुछ लोग पिछले छह माह से बाजार में रंगदारी दिखा रहे हैं। सामान के पैसे मांगने पर मारपीट करते हैं। ग्रामीणों की शिकायत पर 10 बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

सरायछोला थाना क्षेत्र का जारह बड़ा गांव है और इसमें करीब 80 दुकानें हैं। आसपास के गांवों के लोग यहीं से ही सामान खरीदते हैं। ग्रामीणों की मानें तो पिछले छह माह से 10 से 12 बदमाशांे का गैंग सक्रिय है, जो आसपास के गांवों के जाति विशेष के हैं।

ये बदमाश दुकानों से सामान खरीदते हैं, लेकिन पैसे मांगने पर मारपीट कर देते हैं और कट्टों से फायर करते हैं। शुक्रवार को भी बदमाशों ने गांव के रघुवीर पुत्र आशाराम कुशवाह की दुकान से सामान खरीदा, लेकिन जब पैसे मांगे तो मारपीट कर दी।

बदमाशों ने शनिवार रात में भी दुकानों पर फायरिंग की। डर की वजह से कोई घरों से नहीं निकला। सुबह सभी ने मिलकर घटना का विरोध करने के लिए पूरे गांव की दुकान बंद रख गांव के माता के मंदिर पर पंचायत की। ग्रामीणों का कहना था कि जब तक पुलिस बदमाशों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करती तब तक वे दुकान बंद रखेंगे।

पुलिस ने रविवार को रघुवीर कुशवाह की शिकायत पर घुरैया का पुरा निवासी शैलू पुत्र मुकेश गुर्जर, दिलीप पुत्र रामदीन गुर्जर, जनकपुर निवासी दिनेश सिंह पुत्र रामदीन, बोबी सिंह पुत्र लाखन सिंह, भूपेन्द्र पुत्र लाखन सिंह, तोरखेरा निवासी ऊदल सिंह पुत्र सिद्धार सिंह, जनकपुर निवासी ओमवीर पुत्र कीरत सिंह गुर्जर, गब्बर सिंह, राहुल सिंह व दो अन्य के खिलाफ पुलिस ने रंगदारी मांगने, मारपीट करने व फायरिंग करने का प्रकरण दर्ज किया है।

इनका कहना है

ग्रामीणों ने अभी तक शिकायत ही नहीं की थी। आज मुश्किल से एफआईआर कराई है। 10 आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज किया है और उनकी तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें पकड़ लिया जाएगा।

वाल्मीकि चौबे, थाना प्रभारी, सरायछोला

Posted By: Hemant Upadhyay