मुरैना / भिंड। अंचल में बुधवार को दिनभर बादल छाए रहे और हवाएं चलती रहीं। दिन में कई बार ऐसा लगा कि जैसे बारिश होने वाली है। हालांकि बारिश नहीं हुई। कभी सूर्य की धूप निकलती है तो कभी सूरज बादलों की ओट में छिप जाता है। दूसरी ओर ग्वालियर, भिंड अंचल में मौसम में ठंडक इस कदर घुल गई है कि सुबह के समय पक्षी सूरज की गुनगुनी धूप लेकर सर्द मौसम में खुद को अनुकूल बनाने का प्रयास करते प्रतीत होते हैं। इस घटना को फोटोग्राफर रवि रमन प्रजापति ने अलग ही अंदाज में अपने कैमरे में कैद किया। आसमान में सूर्य की अटखेलियों से तापमान पर असर हो रहा है। बताया जाता है कि गुजरात में आए चक्रवात की वजह से अंचल में मौसम बदल रहा है। हालांकि मौसम विभाग बारिश होने से इन्कार कर रहा है। केवल आगामी दिनों में बादल छाए रहने का ही अनुमान लगा रहा है। बुधवार को तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रहा और न्यूनतम तापमान 18 डिग्री रहा। साथ ही 2 किमी की गति से हवाएं चली। इससे अंचल में ठंडक का एहसास हुआ। ठंड से बचने के लिए लोगों ने अपने मुंह को ढांक कर रखा हुआ था।

अंचल में पिछले चार दिन से मौसम में बदलाव आ रहा है। दो दिन पहले अंचल में धुंध छाई रही। इसके बाद आसमान पर बादलों ने कब्जा कर लिया। इस वजह से अंचल के तापमान में भी हल्की सी गिरावट आई। जिससे अंचल में सुबह शाम की ठंड बढ़ गई है। हालांकि दिन में अभी मौसम सामान्य है और न तो गर्मी का एहसास होता है और न ही ठंड का।

भिंड में सुबह होता है सर्दी का अहसास

शहर का पारा 2 दिन से 31 डिग्री पर स्थिर हो गया है। इसी के साथ गुलाबी सर्दी का अहसास होने लगा है। मौसम में दोपहर में तो गर्मी का अहसास होता है, लेकिन सुबह व शाम गुलाबी सर्दी का अहसास होने लगा है। तापमान स्थिर रहने के साथ ही सुबह और शाम के समय गुलाबी सर्दी पड़ना शुरू हो गई। गुलाबी सर्दी के कारण लोगों ने गर्म कपड़ों का उपयोग शुरू कर दिया है।

उमस जैसा वातावरण भी बन रहा है

दिन के समय लोगों को उमस जैसा वातावरण भी फील हो रहा है। खासतौर से घरों व कार्यालयों में उमस जैसी स्थिति बन रही है। इसके पीछे वातावरण में नमी होना बताया जा रहा है। इससे लोगों को मुश्किल हो रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network