मुरैना। समर्थन मूल्य पर बाजरा की खरीदी की शुरुआज आज यानी गुरुवार से शुरू होनी थी लेकिन, हुई नहीं। समर्थन मूल्य पर बाजारा बेचने आए किसानों को सरकारी भाव से 650 से 700 रुपये क्विंटल में बाजरा बेचना पड़ा। उधर समर्थन मूल्य खरीदी की आहट सुनाई देते ही बाजार में बाजरा के दाम 100 रुपये क्विंटल तक बढ़ गए। इस सीजन में पहली बार व्यारियों ने गुरुवार को बाजरा 1500 रुपये क्विंटल में खरीदा।

गौरतलब है कि सरकार ने बाजरा का समर्थन मूल्य 2150 रुपये क्विंटल तय किया है। मुरैना जिले मंें 28 हजार से ज्यादा किसानों ने सरकार को बाजरा बेचने के लिए पंजीयन करवाया है। मप्र सरकार ने समर्थन मूल्य की खरीदी 22 अक्टूबर से तय की थी लेकिन, मुरैना जिले में हालत यह है कि गुरुवार को किसी एक किसान का बाजरा भी समर्थन मूल्य पर नहीं खरीदा गया। जिले में समर्थन मूल्य खरीदी के लिए 45 खरीद केन्द्र बनने थे लेकिन, सच्चाई यह है कि गुरुवार को एक भी खरीद केन्द्र शुरू नहीं हुआ। जिला आपूर्ति अधिकारी अरुण जैन ने बताया कि जो सोसायटी खरीदी करेंगी उन्होंने अब तक सेंटर नहीं बनाए इसलिए, खरीदी में देरी हो गई। श्री जैन ने बताया कि सभी सोसायटियों को दो से तीन दिन में खरीदी शुरू करने के निर्देश दिए जा चुके हैं।

उधर बाजार में बढ़े बाजरा के भाव

बाजार में बाजरा बेचने के लिए किसानों की आमद 15 दिन पहले ही शुरू हो चुकी है। बीते एक पखवाड़े में बाजरा के दाम 1300 से 1400 रुपये के बीच में ही रहे हैं। यानी गल्ला व्यापारी किसानों का बाजारा समर्थन मूल्य से 700 से 800 रुपये कम में खरीदते आ रहे थे। समर्थन मूल्य की खरीदी की शुरुआत होते देखे व्यापारियांे ने भी बाजरा क दाम बढ़ा दिए। गुरुवार को गल्ला व्यापारियों ने 1500 रुपये क्विंटल में बाजरा खरीदा।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस