बानमोर(नईदुनिया न्यूज)। गैस सिलेंडर की कीमत आम लोगों को चूल्हे से निकले धुएं से ज्यादा आंसू निकाल रही हैं। इसके ऊपर से गैस एजेंसियां सिलेंडरों में गैस की घटतौली कर लोगों की जेब पर डाका डालने में जुटी है। ऐसा ही मामला बानमोर के वार्ड क्रमांक एक पवाया रोड पर सामने आया। जहां डिलेवरी करने वाले ने सिलेंडर दिया तो उपभोक्ता ने इसकी तौल कर डाली। जिसमें पता चला कि सिलेंडर में 800 ग्राम गैस कम है। इसी तरह दूसरे सिलेंडर को तौला तो उसमें एक किलो गैस कम निकली। मामला थाने तक पहुंच गया। जिसके बाद डिलेवरी करने वाले ने दूसरा सिलेंडर दिया और थाने से मामला रफा-दफा हो गया। गैस सिलेंडर में घटतौली का पूरा ही ठीकरा इस डिलेवरी करने वाले पर फोड़कर संचालक ने उसे नौकरी से निकालकर पल्ला झाड़ लिया।

उल्लेखनीय है कि घरेलू गैस सिलेंडर के दामों में कुछ दिन पहले ही 50 रुपये का इजाफा किया गया है, लेकिन गैस एजेंसियों की घटतौली की वजह से उपभोक्ताओं को यह गैस 1100 रुपये से भी अधिक का पड़ रहा है। यहां घरों में पहुंचने वाले गैस सिलेंडरों में गैस कम ही पहुंचाई जा रही है। खासबात यह है कि इन घटतौली के सिलेंडरों पर सील तक लगी होती है। इसके बावजूद इसमें गैस कम कर दी जाती है। बानमोर कस्बे के वार्ड एक पवाया रोड पर ऐसा ही मामला सामने आया॥ जहां कुछ लोगों ने आम दिनों की तरह ही गैस सिलेंडर खरीदा। जिसके एवज में का भुगतान किया। लेकिन इस बीच लोगों को सिलेंडर में गैेस कम होने का अंदेशा हुआ। जिस पर डिलेवरी बाय के तौल कांटे से इसे तौला गया। जिसमें यह गैेस सिलेंडर पूरा निकला। लेकिन इसके बावजूद लोगों को गैस कम होने का अंदेशा हो रहा था। जिस पर तुरंत ही एक युवक अपने सिलेंडर को लेकर एक अन्य कांटे पर गया। जिसमें देखा तो सिलेंडर में 800 ग्राम गैस कम निकली। इसक बाद दूसरा युवक भी अपने सिलेंडर को लेकर गया। जिसमें से एक किलो गैस कम निकली। जिसकी शिकायत डिलेवरी बाय से की तो वह गैस कम होने की बात से पूरी तरह से मुकर ही गया। लेकिन लोगों ने उसका पीछा नहीं छोड़ा। जिस पर यह मामला बानमोर थाने तक जा पहुंचा। जहां लोगों ने शिकायत की। लेकिन यहां डिलेवरी बाय से दूसरा सिलेंडर देने की बात कह दी। इसके बाद यह मामला रफ-दफा हो गया। लेकिन यहां यह घटतौली कब से और कितने लोगों के साथ की गई होगी।

कांटे में करके रखते है हेरफेरः

यहां आम तौर पर लोग गैस सिलेंडर की तौल नहीं करते है। जो डिलेवरी बाय दे जाता है उसे अपने घर रख लेते हैं। इसके बाद कई बार गैस समय से पहले ही खत्म हो जाती है। जिस पर लोग कहीं लीकेज होने का अंदाजा लगाते रहते है। लेकिन हकीकत में यहां गैस ही कम दी जाती है। अगर कोई जागरूक उपभोक्ता है तो इसे तुलवा भी लेता है, लेकिन वह भी डिलेवरी बाय के तौल कांटे से ही तुलवाता है। लेकिन इन कांटों में भी हेरफेर करकर रखी जाती है। जिससे इस चोरी को पकड़ना मुश्किल हो जाता है। लेकिन बानमोर में युवकों ने डिलेवरी बाय के तौलकांटे के अलावा दूसरे तौलकांटे का इस्तेमाल कर लिया। जिसके बाद यहां गैस सिलेंडर में की जा रही घटतौली को पकड़ लिया।

बेहद चतुराई से सील सहित खोल लेते हैं ढक्कनः

गैस सिलेंडर में किसी तरह की घटतौली न हो, इसके लिए गैस कंपनी इस पर अपनी एक प्लास्टिक की सील लगाकर भेजती है। अगर इसके ढक्कन को खोला जाता है तो धागा खींचते ही यह सील टूट जाती है। लेकिन यहां इस सील को बिना तोड़े ही गैस को सिलेंडर से निकाल लिया जाता है। इसका तरीका है कि इस सील को ढक्कन समेत ऊपर की और खींच लिया जाता है। जिससे यह टूटती नहीं। जिसके बाद इस ढक्कन को गैस निकालने के बाद पुनः लगा दिया जाता है। उपभोक्ताओं को चाहिए कि इस सील को भी जांचें कि यह कहीं ढीली तो नहीं हुई है।

कथन

-घटतौली की शिकायत उपभोक्ताओं ने आज हमसे की थी, लोगों की शिकायत पर इस डिलेवरी बाय को हमने नौकरी से निकाल दिया है।

हरिओम चौरसिया, आर्शीवाद इंडेन गैस एजेंसी बानमोर।

-हमने गैस सिलेंडर खरीदा था। लेकिन इसमें गैस कम होने का आभास हुआ। डिलेवरी बाय के कांटे से तौला तो यह पूरा निकला। लेकिन इसमें गैस कम ही लग रही थी। जिसके ेबाद एक अन्य कांटे पर तौला तो इसमें 800 ग्राम गैस कम निकली।

दिनेश कुमार, गैस उपभोक्ता पवाया रोड

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local