मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। मुरैना पुलिस ने शुक्रवार की दोपहर बागचीनी पुलिस ने नकली शराब बनाने के काम आने वाले ओवर प्रूफ (ओपी) केमिकल का जखीरा पकड़ा है। यह केमिकल उत्तर प्रदेश से लाया गया था। ओपी केमिकल के साथ पुलिस ने आरोपितों को भी पकड़ा है।

शुक्रवार की दोपहर एसपी ललित शाक्यवार को सूचना मिली, कि बागचीनी क्षेत्र में नकली शराब बनाने के लिए एक ट्रक में भरकर ओपी केमिकल लाया गया है। इस सूचना के बाद पूरे पुलिस महकमे में हडकंप मच गया। भारी मात्रा में ओपी केमिकल की सूचना पर एसपी शाक्यवार ने, सिटी सीएसपी अतुल सिंह, जौरा एसडीओपी मानवेन्द्र सिंह के साथ जौरा, सिविल लाइन, चिन्नाौनी, देवगढ़, सुमावली थाना पुलिस को बागचीनी में दबिश देने भेजा। पुलिस टीम ने बागचीनी चोखट्टा पर वीरेन्द्र यादव नाम के व्यक्ति के घर दबिश दी, जहां 6 ड्रमों के अलावा कुछ केन में ओपी केमिकल भरा मिला। ड्रमों व केन में दोपहर तक तो पुलिस द्वारा 1200 लीटर से ज्यादा ओपी केमिकल बताया गया और तीन आरोपितों को पकड़ने की बात कही गई, शाम होने तक ओपी केमिकल की मात्रा घटाकर 260 लीटर व एक आरोपित बताया जाने लगा। इस कार्रवाई में इतनी गफलतें थीं, कि जौरा एसडीओपी मानवेन्द्र सिंह रात 8 से 10 बजे तक तो यही कहते रहे कि पूरी जानकारी कुछ देर में जारी कर देंगे, इसके बाद सवा 10 बजे उन्होंने अपना मोबाइल बंद कर लिया। बताया गया है, कि थाना क्षेत्र में इतने बड़े अवैध काम की भनक नहीं होने पर एसपी ने बागचीनी के पूरे थाने को स्सपेंड करने की चेतावनी भी दी है। वहीं शहर के एक पुलिस अफसर ने नाम गुप्त रखने की शर्त पर बताया कि ओपी केमिकल से भरा यह ट्रक सिविल लाइन थाना क्षेत्र में हाईवे पर पकड़ा गया है, जिसे मिनी ट्रक में लोड करके आरोपित के घर पटका गया, जहां से जप्ती बताकर केस को मजबूत बनाया जाए।

इसी क्षेत्र में बनी जहरीली शराब ने ली थी 28 जानें

10 महीने पहले इसी साल जनवरी महीने में जौरा ब्लॉक के ही छैरा, मानपुर-पृथ्वी गांव में बनी जहरीली शराब ने 10 से 21 जनवरी के बीच 13 गांव के 28 लोगों की जान ली थी। जहरीली शराब का यह हादसा इतना भीभत्स था कि सात दिन तक जिले के जौरा से लेकर मुरैना, बानमोर व अंबाह तहसील के गांवों से लगातार जहरीली शराब से मौतों की खबर आईं। इस घटना के बाद सरकार ने कलेक्टर-एसपी को बदल दिया गया। नकली शराब के कारोबार से जुड़े 15 आरोपितों पर एफआइआर हुई और 6 पर रासुका की कार्रवाई हुई थी। इसके बाद खुलासा हुआ, कि ओपी केमिकल की जगह आगरा से लाई गए मेथेनॉल केमिकल से बनी शराब से इतने लोगों की जान गई थी। इस हादसे के बाद अब तक जौरा क्षेत्र में ओपी या अन्य केमिकल से शराब बनाने की यह घटना सामने आने से प्रशासन में भी हडकंप मच गया है। पुलिस के आला अफसर इतने नाराज हैं, कि पूरे बागचीनी थाने को सस्पेंड करने की चेतावनी दी गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close