मुरैना (नईदुनिया प्रतिनिधि)। MP News मुरैना जिले के पोरसा कस्बे में जनता मांटेसरी स्कूल परिसर में के पेड़ों से रविवार सुबह अचानक कौए गिरने लगे। देखते-देखते करीब 30 कौओं की मौत हो गई। लोगों ने वन विभाग व पशु अस्पताल को सूचना दी, लेकिन कोई कर्मचारी नहीं आया। कौओं की मौत से स्थानीय लोग में भय पैदा हो गया। ज्ञात हो कि छह दिन पहले भिंड के मेहगांव में भी कौओं व मुर्गे-मुर्गियों की मौत हुई थी।

पोरसा कस्बे में पानी की टंकी के पास जनता मांटेसरी स्कूल परिसर में वट वृक्ष व अन्य पेड़ हैं। इन पर सैकड़ों पक्षी रहते हैं। रविवार की सुबह स्कूल के पड़ोस में रहने वाले संजय वाल्मीकि ने दो-तीन कौओं को पेड़ों के नीचे गिरे देखा। इसके बाद धीरे-धीरे और कौए भी गिरने लगे।

कौए कुछ देर तड़पने के बाद अपने प्राण त्याग रहे थे। संजय ने इस बात की सूचना अन्य आसपास के लोगों, पुलिस, वन विभाग और पशु चिकित्सा विभाग को दी, लेकिन वहां कोई नहीं पहुंचा। तब पुलिसकर्मी इन कौओं को उठाकर पशु अस्पताल ले गए।

कौओं के इस तरह से मरने से लोगों में किसी बीमारी का भय बैठ गया। कुल 30 कौओं की मौत हुई है। खास बात यह है कि कस्बे में सिर्फ इसी जगह पर कौओं की मौत हुई। उनकी मौत किसी बीमारी से हुई या कुछ खाने से, यह पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से ही पता चलेगा।

इनका कहना है

कौओं को हम बर्फ में रखकर जिला पशु चिकित्सा अस्पताल भेज रहे हैं। जहां पोस्टमार्टम हो सकेगा और इनकी मौत की वजह पता चल सकेगी।

-डॉ. विकलेश शर्मा, पशु चिकित्सा अस्पताल, पोरसा मुरैना

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket