MP Weather Update: मुरैना। नईदुनिया प्रतिनिधि। मौसम के मिजाज सोमवार शाम को एक दम से पलटा खा गए। आसमान में बादल छाए उसके बाद कई गांवों में आंधी चली। कहीं बारिश तो कहीं ओले बरसे, जिससे सरसों व गेहूं की फसल को नुकसान हुआ है।

सोमवार की शाम कई गांव में आंधी चली जिससे गेहूं की फसल खेतों में चादर कर तरह बिछ गई। इसके बाद कहीं बारिश तो कहीं ओलों की बरसात शुरू हो गई। शाम 5 बजे के करीब चने के आकार के ओले गिरे, जो किसी गांव में 3 मिनट तो किसी में 7 से 10 मिनट तक भी बरसे। सबसे ज्यादा ओलावृष्टि पिपरसा, सिकरौदा, फिरोजपुर, बिंडवा और आसपास के गांवों में हुई है।

स्थानीय किसान भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि अंगूर के आकार की ओलावृष्टि से कटने को तैयार खड़ी सरसों के खेतों में दाना झड़ गया। उधर गंगापुर, देवरी, बंधा, पिपरई, जनकपुर आदि गांवों में भी तीन से चार मिनट तक ओले बरसेे हैं। इधर मुरैना से सटे लालौर गांव से लेकर माता बसैया क्षेत्र के सुरजनपुर एवं आसपास के गांव में भी हल्की ओलावृष्टि व आंधी के साथ बारिश हुई। किसान जितेन्द्र गुर्जर ने बताया कि आंधी से गेहूं की फसल खेतों में बिछ गई है।

जौरा क्षेत्र में राजस्थान बॉर्डर व चंबल नदी किनारे के गांवों में आंधी व बारिश से फसलों को नुकसान हुआ है। कृषि विभाग के उप संचालक पीसी पटेल ने बताया कि उन्होंने मैदानी कर्मचारियों से रिपोर्ट मांगी है कि कहां-कहां बारिश, ओलावृष्टि या आंधी चली है और इससे क्या नुकसान हुआ है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags