मुरैना। नईदुनिया प्रतिनिधि

चंबल पर बनी फिल्मों में डकैत और बीहड़ों की प्रष्ठभूमि तो ली गई पर उनके बीच के खून खराबे और बाकी नकारात्मक चीजों को बढ़ा चढ़ाकर दिखाया गया। जिसकी वजह से आज भी लोगों के दिलों में इलाको को लेकर एक डर और दहशत बनी हुई है। इसी छवि को तोड़ने का प्रयास किया है मुरैना के ही विजय तिवारी ने। जिनके एसआरडी फिल्म प्रोडक्शन के बैनर तले फिल्म पनिहाई का निर्माण किया जा रहा है। पनिहाई ये शब्द चंबल के लोगों के लिए नया नहीं है। सालों से चंबल इलाके में भैंसो और बाकी जानवरों की चोरी और उनके लौटाने के एवज में पैसे लिए जाते रहे है जिसे पनिहाई कहा जाता है।

चंबल के सबसे बड़े सामाजिक बदलाव को दिखाते हुए ये फिल्म बताएगी कि किस तरह से चंबल में एक साधू के आव्हान पर सामाजिक बदलाव की आंधी चल रही है। जिसके चलते पनिहाई, दहेज प्रथा जैसी बुराइयो को दूर किया गया है। साथ ही शराब बंदी कर लोगों को सही रास्ते पर भी लाया जा रहा है। फिल्म में वरिष्ठ रंग कर्मी अनिल शर्मा, बलराम शर्मा, संतोष याग्निक, गिरार्ज शर्मा,प्रतिमा सिंह,गोविंद श्रीवास,अंजू प्रसाद,टीएस परमार,विजय तिवारी,शाहरूख हाश्मी, सागर गुप्ता,गोविंद राजपूत,आरडी शर्मा,अभेद पाराशर(फक्कड़) आदि ने अहम भूमिका अदा की है। फिल्म में इमलिया खेरो गांव के स्थानीय लोगों ने भी अभिनय कर फिल्म के निर्माण में अपना सहयोग दिया है। फिल्म की शूटिंग मुरैना के इमलिया खेरों गॉव, देवरी और धौलपुर राजस्थान के कुछ हिस्सों में पूरी हुई है। फिल्म के जरिए देष और दुनिया के कलाकारों को चंबल की कुछ ऐसी लोकेशन देखने को मिलेगी जो अभी तक रूपहले परदे से छिपी रही है। फिल्म की शूटिंग लगभग पूरी हो चूकी है जिसे फरवरी की शुरुआत में रिलीज किया जाएगा।

Posted By: