Morena News: मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जनपद अध्यक्ष व जनपद सीईओ से छात्रावास में बासी खाना मिलने की शिकायत करना एक मासूम छात्रा को महंगा पड़ गया। इस शिकायत से अधीक्षिका ऐसी गुस्साई की सात साल की छात्रा को छात्रावास से ही बाहर निकाल दिया। आपबीती सुनाती इस छात्रा का वीडियो शनिवार की शाम इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित (वायरल) हो गया।

गौरतलब है, कि 19 जनवरी को पहाड़गढ़ जनपद अध्यक्ष अंगूरी लाखन धाकड़ और सीईओ बलवंत नलवाया ने छात्रावासों का औचक निरीक्षण किया था। इस दौरान अनुसूचित जनजाति छात्रावास में पहुंचे जनपद अध्यक्ष व सीईओ को छात्रा नंदिनी निवासी बघेवर गांव ने बताया कि उनके छात्रावास में दो-दो दिन पुराना खाना दिया जाता है। बासी खाना खाने के कारण कई बार बच्चों की तबियत खराब हो जाती है।

बासी खाना खाने से इंकार करने पर पूरे दिन खाना ही नहीं दिया जाता। इस शिकायत के बाद जनपद सीईओ ने छात्रावास की अधीक्षिका सुधा शाक्य को फटकार लगाई और कार्रवाई की चेतावनी दी थी। इससे नाराज अधीक्षिका ने शुक्रवार की शाम 4 बजे के करीब छात्रा नंदिनी को छात्रावास से बाहर निकाल दिया।

शनिवार को इस छात्रा का वीडियो वायरल हो गया, जिसमें वह बह रही है कि मैंने बासी खाने की शिकायत कर दी, इससे अधीक्षिका रिसिया (गुस्सा) गईं और मुझे हास्टल से बाहर निकाल दिया। शनिवार देर शाम तक उक्त बालिका को वापस हास्टल में प्रवेश नहीं दिया गया है।

इस मामले में जनपद सीईओ बलवंत नलवाया का कहना है, कि वह इस मामले में जानकारी ले रहे हैं। वहीं अधीक्षिका सुधा शाक्य का कहना है कि इस बच्ची का आश्रम छात्रावास में नहीं है, केवल स्कूल में है। यह बच्ची अपनी मौसी के घर रहती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close