मुरैना। जिला अस्पताल के प्रसूति विभाग में रविवार दोपहर प्रसव के लिए आई गर्भवती महिला की मौत हो गई। परिजन ने नर्सों पर रुपए मांगने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। फिर बिना पोस्टमार्टम कराए शव ले गए। डॉक्टर का कहना है कि महिला में हीमोग्लोबीन कम था।

जानकारी के मुताबिक अंबाह निवासी तमन्ना पत्नी शमशाद खान प्रसव के लिए अपने मायके जींगनी आई थी। दोपहर में प्रसव पीड़ा होने पर पिता मुन्नाा खां व बहन सायना जिला अस्पताल के प्रसूति विभाग में लाए। इलाज शुरू होने के पहले ही परिजन व स्टाफ के बीच पैसों व रैफर करने को लेकर बहस चलती रही।

इसी दौरान तमन्ना ने दम तोड़ दिया। मौत के बाद परिजनों ने हंगामा मचाया। इसी दौरान ड्यूटी डॉक्टर भी आ गईं। बताया जा रहा है कि बाद में ड्यूटी पर मौजूद स्टाफ व डॉक्टर ने परिजन पर दबाव बनाया और किसी तरह समझौता कर लिया। इसके बाद परिजन बिना पोस्टमार्टम करवाए ही शव घर ले गए।

मृतका के पिता मुन्ना खां का आरोप है कि जब बेटी को लेकर अस्पताल आए तो लेबर रूम में काम करने वाली स्टाफ नर्सों ने चार हजार रुपए मांगे। यह भी कहा कि पैसे नहीं देना है तो ग्वालियर ले जाओ। चर्चा के दौरान ही बेटी की मौत हो गई। स्टाफ ने किसी डॉक्टर को भी नहीं बुलाया और बेटी को देखा तक नहीं।

इनका कहना है

जिस महिला की मौत हुई उसके बारे में ड्यूटी डॉक्टर ने बताया है कि उसमें हीमोग्लोबिन कम था लेकिन मामले की जांच की जाएगी। साथ ही प्रसूति विभाग से से शिकायतें मिल रही हैं, इसलिए सोमवार से स्टाफ का रोटेशन किया जाएगा।

-डॉ. अशोक गुप्ता, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल मुरैना