World Cancer Day 2021: मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कैंसर लाइलाज बीमारी है, इस भ्रांति को दूर करने के लिए नगर के एक प्राइवेट क्लीनिक चलाने वाले आरएमपी डाक्टर बीएम अग्रवाल लगातार लोगों को जागरूक कर रहे हैं। इसके उदाहरण के रूप में वे खुद अपने आप को सामने रखते हैं। इसके अलावा जो भी कैंसर पीड़ित उनके संपर्क में आता है उसे उचित सलाह और उनकी हर संभव मदद करने से भी पीछे नहीं हटते। अगर जरूरत पड़ती है तो अस्पताल तक मरीज को ले जाने में वह पीछे नहीं हटते हैं। अभी तक 8 से 10 मरीज ऐसे है जो उनके संपर्क में आए और अब कैंसर को हराकर अपना स्वस्थ्य जीवन जी रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि नगर के नैनागढ़ रोड पर रहने वाले 43 वर्षीय आरएमपी डाक्टर बीएम अग्रवाल को 2017 में गाल में छाला होने पर जांच के बाद कैंसर होने का पता चला था, लेकिन उन्होंने इसके इलाज में किसी तरह की देरी नहीं की, महज 15 दिन बाद ही इसका जयपुर अस्पताल में आपरेशन कराया। जिसके बाद कीमो थैरपी ली और इसके बाद वह पूरी तरह से स्वस्थ हो गए। वर्तमान में वह पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं।

स्वस्थ होने के बाद उन्होंने ऐसे कैंसर पीड़ितों मरीजों की मदद की ठानी। डा. बीएम अग्रवाल के मुताबिक लोग कैंसर को लाइलाज बीमारी समझते है, इसी वजह से वह मानसिक रूप से ही हार जाते है। कई बार लोग इसकी जांच कराने तक से बचते हैं। उनके यहां कैंसर के लक्षण वाले जितने भी मरीज आए उन्होंने उन्हें तत्काल इसकी जांच कराने की सलाह दी।

अपने आप को उदाहरण के रूप में प्रस्तुत कर किया। कई मरीजों को वह कैंसर अस्पताल तक खुद भी लेकर गए। जिससे उनकी मदद हो सके। अभी तक 8 से 10 उनके संपर्क में कैंसर पीड़ित आए हैं,जो इलाज लेकर पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि कैंसर से लोगों को जागरूक करने के लिए मुरैना में 2019 में सेमिनार भी आयोजित कराया। जिसमें कैंसर विशेषज्ञ जयपुर के डा. शशिभूषण सैनी ने यहां आकर लोगों को जागरूक किया।

कैंसर पीड़ित ने की एंबुलेंस दान

मुरैना में एक कैंसर पीड़ित मरीज ने गरीबों की सेवा के लिए एंबुलेंस नगर की समाजसेवी संस्था नेकी की दीवार को दी। जीवाजी गंज में रहने वाले सीताराम गुप्ता को कैंसर का पता चला। इसके बाद उन्होंने इलाज कराना शुरू किया। उन्होंने इस बीच अपने सेवा कार्य को जारी रखा। इसके लिए उन्होंने नगर की समाजसेवी संस्था नेकी की दीवार को एंबुलेंस भेंट की। जिससे गरीब और अन्य पीड़ित जो प्राइवेट एंबुलेंस नहीं वहन कर सकते, उनकी सेवा की जा सके। नेकी की दीवार की यह एंबुलेंस इस सेवा कार्य को लगातार कर भी रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags