- अंबाह कस्बे की घटना, ताबड़तोड़ हुए हर्ष फायर की दो गोलियां दो लोगों को लगींं, मृतक के स्वजनों ने किया चक्काजाम।

मुरैना. नईदुनिया प्रतिनिधि। शादी में हुआ हर्ष फायर एक बार फिर जानलेवा साबित हुआ। ताजा मामला अंबाह कस्बे का है, जहां दूल्हे के एक दोस्त ने नशे की हालत में अंधाधुंध हर्ष फायर किए। बंदूक से निकली गोली ने दूल्हे के दूसरे दोस्त की जान ले ली, वहीं शादी में खाना बना रहा हलवाई भी गोली लगने से घायल हो गया, जिसे नाजुक हालत में ग्वालियर रेफर किया गया है।

बुधवार की देर रात अंबाह कस्बे के द्रोपती गार्डन में बृजेश समाधिया के बेटे दिनेश समाधिया की शादी का कार्यक्रम चल रहा था। रात 11 बजे के करीब दूल्हे दिनेश की लगुन-फलदान का कार्यक्रम चल रहा था। स्टेज के एक ओर डीजे पर बाराती व स्वजन नाच रहे थे और स्टेज के पास ही कुछ युवक हर्ष फायर कर रहे थे। इसी हर्ष फायर में पिंटू उर्फ अनिल राजौरिया ने नशे ही हालत में हवाई फायर करने की बजाय बंदूक को सीधे तानकर गोली चला दी। एक गोली स्टेज के पास ही खड़े होकर न्यौछावर कर रहे दूल्हे के दोस्त खान का पुरा निवासी 24 साल के हरीसिंह तोमर को लगी, इसके बाद दूसरी गोली चली जो मैरिज गार्डन के एक कौने में रसाई बनवार रहे हलवाई राकेश खटीक के शरीर में जा धंसी। गोली लगते ही दोनों लहूलुहान होकर जमीर पर गिर पड़े, इसके बाद शादी समारोह में चींख-पुकार मच गई। दोनों घायलों को तुरंत ही अंबाह अस्पताल ले जाया गया। गोली से घायल दोनों की हालत ऐसी नाजुक थी कि अंबाह अस्पताल के बाद जिला अस्पताल से भी उन्हें ग्वालियर रेफर कर दिया गया। ग्वालियर के ट्रामा सेंटर में हरीसिंह तोमर ने दम तोड़ दिया, वहीं हलवाई राकेश खटीक की हालत भी नाजुक है।

स्वजनों ने लगाया जाम, हत्या का आरोप

इस घटना के 15 घंटे बाद भी पुलिस ने आरोपित पिंटू राजौरिया पर गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर दिया। इस केस के बाद मृतक के स्वजन भड़क गए और मुरैना तिराहे पर जाम लगा दिया। शाम 5 बजे से देर शाम तक यह जाम लगा रहा, पुलिस व प्रशासन के अफसर मृतक के स्वजनों को समझाने में लगे थे। मृतक के स्वजन हत्या का मामला दर्ज करने व आरोपित को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं।

यह हर्ष फायर या रंजिश

मुरैना जिले में हर्ष फायर की घटनाएं समय-समय पर होती रही हैं, लेकिन बीती रात अंबाह जैसा हर्ष फायर पहले कभी नहीं हुआ। हर्ष फायर में आमतौर पर एक गोली से कोई हादसा होता है। फायरिंग में किसी को एक गोली लगने के बाद चीखपुकार मच जाती है, लेकिन अंबाह की इस घटना में दो गोलियां अलग-अलग लोगों को लगी हैं। सवाल यह है कि पहली गोली पास ही खड़े युवक को लगने के बाद दूसरी गोली दूर रसोई बना रहे रसोईयो को लगी है। ऐसे में सवाल यह भी उठ रहे हैं कि यह हर्ष फायर है या रंजिशन की गई घटना।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local