नरसिंहपुर। नौतपों के अच्छे से तपने के बाद भी जिले के आसमान में मानसूनी बादल नदारद हैं। उमस, गर्मी आमलोगों को बेहाल किए हुए है, वहीं बोवनी-बखरनी के बावजूद पानी का अभाव अब खेतों दरार पैदा करने लगा है। सबसे अधिक नुकसान सोयाबीन की फसल को है, जो बारिश के अभाव में 40 फीसद से अधिक रकबे में खराब हो चुकी है। इसमें पीला मोजेक रोग लग चुका है।

गन्ना मिलों की मनमानी और समय पर भुगतान न हो पाने के कारण वर्षों बाद जिले के किसानों ने सोयाबीन की ओर रुख किया था। जिले में करीब 35 हजार हेक्टेयर रकबे में सोयाबीन की बोवाई की गई थी। यह रकबा पिछले साल से करीब 25 फीसद अधिक था। लॉकडाउन में हुए घाटे की भरपाई के बीच किसानों को उम्मीद थी कि सोयाबीन के जरिए वे अपनी माली हालत को सुधार लेंगे, लेकिन कोरोना संकट के बीच बादलों ने भी उसे दगा दे दिया। पूरा सावन बीतने को है लेकिन उम्मीद के अनुसार बारिश नहीं हो सकी है। जिसके चलते खेतों में खड़ी सोयाबीन की फसल में अब पीला मोजेक रोग लगने लगा है। कृषि विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में बारिश के अभाव में 40 से 50 फीसद तक खेतों में खड़ी सोयाबीन की फसल में पीला मोजेक लग चुका है। ये फसलें लगभग बर्बाद हो चुकी हैं। विभाग के अनुसार ऐसे हालात चार साल बाद बने हैं। वर्ष 2016 में अल्पवृष्टि के कारण सोयाबीन की फसलें बर्बाद हुईं थीं, यही हाल वर्ष 2020 में भी देखने को मिल रहा है। कृषि विभाग खुद मान रहा है कि अल्पवृष्टि के कारण सोयाबीन उत्पादकों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। वहीं खरीफ सीजन की अन्य फसलों की बात करें तो हालात सोयाबीन से अलहदा नहीं हैं। मक्का को छोड़कर शेष फसलें तुअल, अरहर, गन्ना, धान की फसलें भी सूखने के कगार पर पहुंचने लगी हैं। जिले की पांचों तहसीलों का हाल ये है कि हर जगह खेतों में बारिश के अभाव में खेत दरारयुक्त हो गए हैं।

दिखने लगीं दरारें: जिले में कई जगह खेत में जहां नजर डालो वहां दरारें दिख रही हैं। ताजा तस्वीरें ग्राम सिंहपुर व आसपस के गांवों से आई हैं, जहां बारिश नहीं होने की वजह से धान के खेतों में दरारें पड़ने लगी हैं। इसी तरह करेली तहसील के ग्राम अम्हेटा, जोबा, भुगवारा, बस्ती, मोहद, आमगांव बड़ा, नयाखेड़ा सहित दर्जनों क्षेत्र के किसान परेशान है। नहर भी इतनी घटिया क्वालिटी की बनी हैं कि देखते ही भ्रष्टाचार बजबजाने लगता है। किसानों के हितो की बात करने वाले नेताजी भी कभी फील्ड पर नहरों को देखने नहीं गए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan